राज्यभर में फर्जी अभ्यर्थियों से दिलवानी थी भर्ती परीक्षा

राज्यभर में फर्जी अभ्यर्थियों से दिलवानी थी भर्ती परीक्षा

Avinash Kewaliya | Publish: Jul, 11 2018 08:17:21 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

- कांस्टेबल भर्ती परीक्षा

- जोधपुर ग्रामीण पुलिस ने पकड़ा गिरोह

 

 

- कोचिंग सेंटर संचालक, दो सहयोगी, एक फोटोग्राफर और सात अभ्यर्थी गिरफ्तार

जोधपुर. कांस्टेबल भर्ती परीक्षा से तीन दिन पहले जोधपुर जिला ग्रामीण पुलिस ने नकल करवाने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर बुधवार को कोचिंग सेंटर संचालक, दो सहयोगी, एक फोटोग्राफर व सात अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया। गिरोह मूल अभ्यर्थियों की जगह फर्जी अभ्यर्थियों से परीक्षा दिलाने और शर्तिया चयन के बदले पांच से सात लाख रुपए ले रहा था। आरोपियों से चार लाख नौ हजार पांच सौै रुपए, ब्लैंकचेक, रसीदबुकें, अभ्यर्थी व फर्जी अभ्यर्थियों के आठ मिक्सिंग फोटो, कम्प्यूटर, मोबाइल आदि बरामद किए गए हैं। ग्रामीण पुलिस की शहर में इस कार्रवाई के बारे में पुलिस कमिश्नरेट जोधपुर अनभिज्ञ रही।

पुलिस महानिरीक्षक (रेंज) जोधपुर हवासिंह घुमरिया ने बताया कि जालोरी गेट में अनुपम क्लासेज में कोचिंग के नाम पर अभ्यर्थियों से गारंटी के साथ कांस्टेबल व अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में चयन कराने के नाम पर नकल कराए जाने की शिकायत मिली थी। इस पर क्लासेज के संचालक सांचौर (जालोर) हाल पाल बाइपास मानसरोवर कॉलोनी निवासी भीखाराम विश्नोई, पालड़ी सिद्धा निवासी अरुण व बाड़मेर शोभला दर्शान निवासी सुरेश कुमार, बतौर अभ्यर्थी हिंगोली निवासी रामदीन विश्नोई, हनुमानगढ़ में भादरा तहसील में सरदार गढि़या निवासी रघुवीर सिंह, कानावास का पाना निवासी भंवरलाल, बीकानेर में पांचू थानान्तर्गत कूदसू निवासी हरिनारायण विश्नोई, रसीदा गांव निवासी मालाराम विश्नोई, सरनाडा निवासी मनीष विश्नोई और पचपदरा (बाड़मेर) निवासी निर्मल पालीवाल को गिरफ्तार किया गया। पुलिस निरीक्षक हरजीराम की ओर से खाण्डा फलसा थाने में मामला दर्ज कराया गया है।

यंू किस्तों में लेते थे राशि

पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से आठ एेसी फोटो जब्त की, जो मूल अभ्यर्थी व फर्जी अभ्यर्थी की फोटो को मिलाकर तैयार की गई है। आरोपी भीखाराम, अरुण व सुरेश अभ्यर्थियों से पांच से सात लाख रुपए में सौदा तय करते थे। दो लाख रुपए अग्रिम ले लिए गए। दो लाख रुपए प्रवेश पत्र मिलने पर लिए गए थे और शेष राशि परीक्षा शुरू होने से पहले ली जानी थी।

सगे भाई पर २५ हजार का इनाम
मुख्य आरोपी भीखाराम का भाई जगदीश जाणी नकल करवाने वाले गिरोह में सक्रिय है। वह सेंटर से प्रश्न पत्र लीक करवा व्हाट्सएेप के जरिए भेज देता था। कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में सक्रिय रहने की आशंका के चलते एसओजी ने लम्बे समय से फरार जगदीश पर गत दिनों २५ हजार रुपए का इनाम घोषित किया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned