HANDICRAFT--देश में हैण्डीक्राफ्ट निर्यात करने का सबसे बड़ा सेन्टर है जोधपुर

- केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री नितिन गडगरी ने जोधपुर के हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों की समस्याओं को सुना

- जोधपुर से निर्यात बढ़ाने के लिए दिया टेक्नोलॉजी एण्ड डिजाइन सेंटर का सुझाव

By: Amit Dave

Published: 12 Sep 2020, 10:23 PM IST

देश में हैण्डीक्राफ्ट निर्यात करने का सबसे बड़ा सेन्टर है जोधपुर

केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री नितिन गडगरी ने जोधपुर के हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों की समस्याओं को सुना

- जोधपुर से निर्यात बढ़ाने के लिए दिया टेक्नोलॉजी एण्ड डिजाइन सेंटर का सुझाव

जोधपुर।

केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री नितिन गडग़री ने हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों के साथ ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की। जोधपुर हैण्डीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के अनुरोध पर आयोजित मीटिंग में केन्दीय मंत्री गड़करी ने कहा कि देश में हैण्डीक्राफ्ट निर्यात क्षेत्र में कुल निर्यात का 40 प्रतिशत राजस्थान से किया जा रहा है । इसमें जोधपुर की महत्वपूर्ण भूमिका है । एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ भरत दिनेश ने जोधपुर के हैण्डीक्राफ्ट निर्यात उद्योग व वर्तमान में आ रही समस्याओं की जानकारी दी । गड़करी ने जोधपुर से हस्तशिल्प निर्यात को बढ़ावा देने के लिए टेक्नोलॉजी व डिजाइन सेंटर खोलने का सुझाव दिया व सैटेलाइट ट्राइपोर्ट के लिए अनुदान देने का विश्वास दिलाया । इस दौरान वरिष्ठ निर्यातक निर्मल भण्डारी ने निर्यात कंटेनरों की कमी की समस्या, अशोक बाहेती ने लोहे के हैण्डीक्राफ्ट को बढावा देने के लिए मशीनरी पर सब्सिडी देने, नवनीत जालानी ने एमइआइएस स्कीम को जारी रखने की मांग की। गौरव जैन ने इन्कम टेक्स स्लेब कम करने, महावीर बागरेचा ने इंसेंटिव स्कीम को बढाने, मनीष पुरोहित ने अंतरराष्ट्रीय मेलों में निर्यातकों को भाग लेने के लिए स्कीमों को जोधपुर के हैण्डीक्राफ्ट निर्यातकों को दिलाने की मांग की। गडग़री ने निर्यातकों की समस्यओं को सुन इनके समाधान के लिए संबंधित विभाग को आदेश दिया। अंत में डॉ भरत दिनेष ने धन्यवाद ज्ञापित किया ।

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned