शहीद राजूराम की पार्थिव देह पहुंचने पर गमगीन हुआ माहौल, अंतिम संस्कार में लगे देशभक्ति नारे

अरुणाचल प्रदेश के त्वांग क्षेत्र में ट्रक के खाई में गिरने से प्राण गंवाने वाले आर्मी में नायक राजूराम विश्नोई का पार्थिव शरीर शनिवार सुबह सड़क मार्ग से दिल्ली से जोधपुर पहुंची। गांव में शोक की लहर देखी गई।

By: Harshwardhan bhati

Published: 16 May 2020, 12:33 PM IST

वीडियो : कमलेश दवे/जोधपुर/धुंधाड़ा. अरुणाचल प्रदेश के त्वांग क्षेत्र में ट्रक के खाई में गिरने से प्राण गंवाने वाले आर्मी में नायक राजूराम विश्नोई का पार्थिव शरीर शनिवार सुबह सड़क मार्ग से दिल्ली से जोधपुर पहुंची। गांव में शोक की लहर देखी गई। शहीद की पार्थिव देह पहुंचने पर गांव के रहवासियों ने देशभक्ति नारे लगाने के साथ ही पुष्प वर्षा की। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों और प्रशासन की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

शहीद की अंतिम यात्रा में युवाओं ने हाथों में तिरंगा लेकर चलते हुए भारत माता के जयकारे लगाए। लूणी तहसील में उनके पैतृक गांव फींच हमीर नगर में सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जा रहा है। लूणी विधायक महेन्द्रसिंह विश्नोई ने शुक्रवार को हमीरनगर पंहुचकर शोक संतप्त परिवार को ढांढस बंधाया था। जिला सैनिक कल्याण अधिकारी ले. कर्नल आरएस राठौड़ के अनुसार नायक शुक्रवार को वायुसेना के विशेष विमान में इटानगर से दिल्ली पहुंचा राजूराम का शव सड़क मार्ग से जोधपुर लाया गया।

बेटियों-गर्भवती पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल

राजूराम के निधन से पूरा गांव स्तब्ध है। परिवार में वृद्ध दादा-दादी, माता-पिता, गर्भवती पत्नी सुगना देवी का रो-रोकर बुरा हाल हैं। वे राजू को बार-बार याद कर खामोश हो जाते हैं और फिर सुबक-सुबक कर रोने लगते हैं। मृतक की बड़ी बेटी सरस्वती (7) ने जब से अपने पिता के स्वर्गवास की खबर सुनी है तब से खाना-पीना ही छोड़ दिया है। छोटी बेटी शीनू (3) को हादसे के बारे में समझ ही नहीं है। अपनी रोती मां को देखकर वह बार-बार उनसे सवाल कर रही है, आप क्यों रो रहे हो.....।

Harshwardhan bhati
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned