एेसा चिकित्सालय जहां चिकित्सक अपनी मर्जी से आते है

एेसा चिकित्सालय जहां चिकित्सक अपनी मर्जी से आते है
एेसा चिकित्सालय जहां चिकित्सक अपनी मर्जी से आते है

Manish Panwar | Publish: Aug, 27 2018 11:26:16 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

देणोक (जोधपुर ). चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों की लापरवाही का एक नमूना ईशरू ग्राम पंचायत मुख्यालय में संचालित पीएचसी में देखने को मिल रहा है।

देणोक (जोधपुर ). चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों की लापरवाही का एक नमूना ईशरू ग्राम पंचायत मुख्यालय में संचालित पीएचसी में देखने को मिल रहा है। यहां कार्यरत चिकित्सा कार्मिक सप्ताह-पन्द्रह दिन में एक बार अपनी उपस्थिति दर्ज करने चिकित्सालय पहुंचते है तथा बाकी दिनों में चिकित्सालय बन्द रहता है। एेसे में गांव के रिटायर्ड केप्टन कुम्भसिंह मांगलिया ने सोमवार को विभाग के जिला चिकित्सा अधिकारी एवं ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी को शिकायत भेजी। उच्चाधिकारियों को दी शिकायत में रिटायर्ड केप्टन मांगलिया ने बताया कि उनके गांव में पिछले दो दशक से अधिक समय तक संचालित उपस्वास्थ्य केन्द्र का पांच साल पूर्व पीएचसी में क्रमोन्नत किया। वर्तमान में पीएचसी में एक डॉक्टर, तीन मेल नर्स, एक फीमेल नर्स कार्यरत है, लेकिन इनमें से अधिकांश कार्मिक सप्ताह-पन्द्रह दिन में एक बार चिकित्सालय में उपस्थिति दर्ज करने पहुंचते और वापस चले जाते हैं।

एक दर्जन से अधिक गांवों के लोग इलाज के लिए ठोकरे खाने को विवश

ग्रामीणों ने बताया कि उक्त पीएचसी में आस-पास के ईशरू, रामनगर, कृष्ण नगर, करन नगर, सन्तोष नगर, सुवाप, केरला, फतेह नगर, बेदू सहित दर्जन भर से अधिक गांवों के रोगी इलाज के लिए आते है। लेकिन चिकित्सा कार्मिक उपस्थित नहीं मिलने से उन्हें निराश लौटना पड़ता है।

शिकायतों के बाद भी समाधान नहीं

ग्रामीणों ने बताया कि चिकित्सालय में कार्यरत चिकित्सा कार्मिकों के नहीं आने की गांव में आयोजित जनसुनवाई के अतिरिक्त लिखित में उच्चाधिकारियों को भी शिकायते की लेकिन कोई समाधान नहीं होने के कारण ग्रामीणों में रोष है।
नहीं मिल रहा नि:शुल्क दवा योजना का लाभ:-ग्रामीणों ने बताया कि राज्य सरकार की ओर से पीएचसी पर पेशाब, खून, मलेरिया सहित पन्द्रह प्रकार की नि:शुल्क जांच एंव विभिन्न न:शुल्क दवाइयों का आज दिन तक कोई फायदा नहीं मिल पाने से ग्रामीण सरकार की कई योजनाओं से वंचित रह रहे है। िनस.

शिकायत मिली है

ईशरू पीएचसी में चिकित्साकार्मिकों के नहीं पहुंचने की शिकायत गांव के रिटायर्ड केप्टन कुम्भ सिंह ने की है। जल्द ही पीएचसी का निरीक्षण करके उक्त चिकित्सा कार्मिकों के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

महावीर सिंह, ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी फलोदी।
इन्होंने बताया:-

मैं पिछले पांच साल से अधिक समय से गांव के चिकित्सालय की दुर्दशा की शिकायतों कर-करके हार चुका हूं लेकिन अधिकारी कोई कार्रवाई करने के लिए आगे हीं नही आ रहे है। एेसे में गरीब जनता को इलाज के लिए जोधपुर व फलोदी के चक्कर निकालने पड़ रहे है।
कुम्भ सिंह मांगलियां, समाज सेवी रिटायर्ड केप्टन ईशरू

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned