जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर के 4 सौ से अधिक शिक्षकों को न्यूनतम परिणाम देने पर नोटिस

 

संयुक्त निदेशक स्कूल शिक्षा जोधपुर मंडल से कार्रवाई

कइयों की वेतन वृद्धि तक रोकी

By: Abhishek Bissa

Updated: 07 Mar 2021, 10:42 PM IST

जोधपुर. साल 2019-20 के सत्र में दसवी बोर्ड परीक्षा में न्यूनतम परिणाम देने वाले जोधपुर मंडल के जोधपुर, बाड़मेर व जैसलमेर जिले के 4 सौ से अधिक शिक्षकों को नोटिस जारी किया गया है। इन शिक्षकों का परिणाम बेहद न्यून रहा। उधर, ही कई शिक्षकों की वेतन वृद्धि तक रोकी गई है।

जोधपुर मंडल स्कूल शिक्षा के संयुक्त निदेशक प्रेमचंद सांखला ने 4 सौ से अधिक जोधपुर मंडल के वरिष्ठ अध्यापकों को नोटिस दिया था। इसमें 242 का जवाब असंतोषप्रद पाया गया। जिन्हें भी 17 सीसीए नोटिस और चार्जशीट दी जाएगी।

वेतन वृद्धि रोकी

शिक्षा विभाग ने न्यूनतम परिणाम देने वाले जोधपुर मंडल के 20 शिक्षकों की वेतन वृद्धि तक रोकी है। इस बार इनकी सालाना वेतन वृद्धि पर भी फुल स्टाप लगाया गया है।

इन विषयों में मिला नोटिस

शिक्षकों के परिणाम गणित, विज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, सामाजिक विज्ञान जैसे विषयों में न्यून रहे। इन विषयों को लेकर ही नोटिस थमाए गए।

इस बार बढ़ा और चैलेंज

इस बार शिक्षा विभाग को रिजल्ट को लेकर बेहद चिंता है। क्योंकि आधे से ज्यादा समय तक कोरोनाकाल में कक्षाएं तक संचालित नहीं हुई हैं। शिक्षा विभाग को डर है कि कहीं बोर्ड परीक्षाओं के परिणाम पर असर न पड़ जाए। वहीं शिक्षा विभाग ने ऑनलाइन पढ़ाई के लिए कई कार्यक्रम किए, लेकिन विद्यार्थी इतने साधन-संपन्न नहीं है। इस कारण कई बच्चे गुरुजनों से शिक्षा लेने में वंचित ही रहे हैं।

इनका कहना

गुणात्मक परिणाम के लिए शिक्षा विभाग तत्पर है। अच्छा परिणाम देने वालों को शिक्षा विभाग ने प्रमाण-पत्र भी सौंपे हैं।
- प्रेमचंद सांखला, संयुक्त निदेशक, स्कूल शिक्षा, जोधपुर मंडल

Abhishek Bissa Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned