परेशान होते हैं वरिष्ठ नागरिक जोधपुर रेलवे स्टेशन पर

-लिफ्ट रहती है बंद, बैटरी चालित कार भी नहीं

—हाईकोर्ट का रेलवे को नोटिस, मांगा जवाब

जोधपुर.

राजस्थान हाईकोर्ट ने जोधपुर रेलवे स्टेशन पर वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग और बीमारों के लिए आधारभूत सुविधाओं की कमियों को लेकर दायर जनहित याचिका पर रेलवे को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

वरिष्ठ न्यायाधीश संगीत लोढा और न्यायाधीश अरुण भंसाली की खंडपीठ में याचिकाकर्ता विशाल सिंघल ने बताया कि जोधपुर रेलवे स्टेशन, उपनगरीय रेलवे स्टेशन राईका बाग और भगत की कोठी पर विशेष श्रेणी, जिनमें वरिष्ठ नागरिक, दिव्यांग जन, गर्भवती महिलाएं तथा बीमार व्याक्तियों के लिए रेलवे परिसर में प्रवेश से लेकर उनके ट्रेन के डिब्बे में चढने तक बैटरी ऑपरेटेड कार उपलब्ध नहीं है। इसके चलते ऐसे व्यक्तियों को मानसिक और शारीरिक कष्ट उठाने पडते हैं। रेलवे परिसर में उपलब्ध एकमात्र लिफ्ट भी अमूमन बंद मिलती है। सिंघल ने बताया कि पार्किंग क्षेत्र एवं रेलवे के दूसरे गेट पर स्थित एस्केलेटर में भी आए दिन खराबी देखने को मिलती है। इसके चलते यात्रियों को प्लेटफॉर्म 2 से लेकर 5 तक कम से कम 44 सीढियां चढनी और उतरनी पडती है। याचिका में पार्किंग के अनुबंधकर्ता द्वारा नियम से अधिक पार्किंग राशि वसूलने का आरोप भी लगाया गया है। उन्होंने बताया कि कई अन्य बुनियादी समस्याएं भी हैं, मसलन प्लेटफार्म और रेल के डिब्बे की उंचाई में अंतर है, जिसके कारण भी विशिष्ट नागरिकों का असुविधा होती है।

yamuna soni
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned