scriptStarted doing disgusting thing after returning from Ukraine | यूक्रेन से लौटकर करने लगा ऐसा घिनौना काम | Patrika News

यूक्रेन से लौटकर करने लगा ऐसा घिनौना काम

जोधपुर में एक ऐसा चिकित्सक भी है, जो Ukraine से MBBS कर लौटने के बाद भ्रूण परीक्षण (Fetal Test) जैसे घिनौने काम में लग गया और कुछ बरसों बाद ही उस पर लग गया हिस्ट्रीशीटर डॉक्टर का तमगा। हाल ही गिरफ्तार हुए इस चिकित्सक को ऐसा काम करते पुलिस पांच साल में चार बार पहले भी पकड़ा था और इस निलम्बित सरकारी चिकित्सक के खिलाफ ये चारों मामले अब भी अदालत में विचाराधीन हैं।

जोधपुर

Updated: April 27, 2022 05:52:20 pm

जोधपुर। रूस से युद्ध का सामना कर रहे Ukraine से बड़ी संख्या में भारतीयों ने MBBS की डिग्री हासिल की है। इनमें गर्भवती महिला के गर्भ में पल रहे भ्रूण की जांच करने का आरोपी History sheeter Doctor मोहम्मद इम्तियाज भी शामिल है। उसने वर्ष 2004 में यूक्रेन से एमबीबीएस की थी। तब से अब तक वह पांच बार Fetal Test करने के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है।
यूक्रेन से लौटकर करने लगा ऐसा घिनौना काम
यूक्रेन से लौटकर करने लगा ऐसा घिनौना काम
पीसीपीएनडीटी इकाई के पुलिस निरीक्षक जितेन्द्र गंगवानी के अनुसार मूलत: उदयमंदिर आसन हाल कमला नेहरू नगर निवासी हिस्ट्रीशीटर डॉ. मोहम्मद इम्तियाज ने वर्ष 2004 में यूक्रेन से एमबीबीएस की डिग्री हासिल की थी। वह अक्टूबर 2013 में बतौर सरकारी चिकित्सक नियुक्त हुआ। तब से अब तक सरकारी सेवा में है। हालांकि वह निलम्बित चल रहा है। उसके डॉक्टर पिता भी 15 अगस्त 2016 को भ्रूण जांच करते गिरफ्तार किए गए थे। डॉ. मोहम्मद इम्तियाज 8 अक्टूबर 2016 से निलम्बित है।
डॉक्टर व मध्यस्थ को जेल भेजा

प्रकरण में आरोपी डॉ. इम्तियाज व मध्यस्थ भंवरलाल जांगिड को पीसीपीएनडीटी इकाई ने मंगलवार को कोर्ट में पेश किया। अदालत ने दोनों आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए गए। दोनों आरोपी तीन-तीन दिन के रिमाण्ड पर थे।
26042022jodhpur13.jpgहिस्ट्रशीटर डॉक्टर के खिलाफ 5 मामले

- 8 अक्टूबर 2016 : गर्भवती महिला के भ्रूण की जांच करने के आरोप में डॉ मोहम्मद इम्तियाज को पहली बार गिरफ्तार किया गया था। उसी दिन निलम्बित भी कर दिया गया। 8 फरवरी 2017 को उसके खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया गया।
- 21 मई 2017 : आठ महीने बाद ही डॉ इम्तियाज एक बार फिर ऐसे ही मामले में गिरफ्तार किया गया।

- 6 जनवरी 2018 : पीसीपीएनडीटी इकाई ने तीसरी मर्तबा डॉ इम्तियाज को भ्रूण परीक्षण करते पकड़ा।
- 10 सितम्बर 2018 : आठ महीने बाद ही पीसीपीएनडीटी इकाई ने एक बार फिर डा मोहम्मद इम्तियाज व सहयोगियों को दबोचा

- 22 अप्रेल : 2022 : पीसीपीएनडीटी ने पाल रोड पर खेमे का कुआं के पास मकान में पोर्टेबल सोनोग्राफी मशीन के साथ भ्रूण जांच करते डॉ इम्तियाज व दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपए'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तारसावधान! विदेशी शैतानों के निशाने पर हमारी बेटियां... नाबालिग का अपहरण करने कतर से आया था बांदीकुई, दरभंगा से धरा गयाBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.