छात्र संघ चुनाव : मतदान से पहले व मतदान के बाद पथराव, छात्रनेता ग्वाला समेत दो गुटों के दस छात्र गिरफ्तार

Kanharam Mundiyar | Publish: Sep, 10 2018 10:44:42 PM (IST) Jodhpur, Rajasthan, India

-निवर्तमान छात्र संघ अध्यक्ष कांता ग्वाला की कार एसयूवी पर पथराव

-दो कार व एक मोटरसाइकिल में तोडफ़ोड़

-चुनावी रंजिश का गुस्सा कारों व मोटरसाइकिलों पर निकाला
-जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव में तैनात रहे 1159 अधिकारी व जवान, फिर भी छात्र गुटों ने दिखाई दबंगई
-पुलिस कमिश्नर, दोनों डीसीपी सहित सभी अधिकारी रहे राउण्ड पर
जोधपुर.
जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय जोधपुर के छात्र संघ चुनाव में इस बार भी अपेक्स पदों के प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच वर्चस्व की जंग के बीच पथराव व तोडफ़ोड़ की घटना हुई। पहली घटना सोमवार दोपहर पौने एक बजे कमला नेहरू गल्र्स कॉलेज के कुछ दूर ताराचंद सर्किल के पास हुई। एक गुट के छात्रों ने निवर्तमान छात्र संघ अध्यक्ष कांता ग्वाला की कार एसयूवी पर पथराव कर कांच फोड़ दिए। इस कार में छात्राएं सवार थीं, लेकिन चोट किसी को नहीं आई। ये छात्राएं केएन कॉलेज से मतदान कर लौट रही थी। इस बीच कार पर अचानक हुए पथराव से छात्राएं घबरा गई। लेकिन चालक कार को तेजी से सुरक्षित जगह की तरफ भगा ले गया।

घटना के बाद पुलिस में भी हड़कम्प मच गया। पुलिस ने कई जगहों पर दबिश दी और कुछ छात्रों को पकड़ लिया। इसी प्रकार से पुलिस लाइन के पास सुभाष नगर में पत्थर व लाठियों से वार कर एक मोटरसाइकिल को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। मतदान समाप्ति के बाद भी कुछ युवकों ने सर्किट हाउस के सामने वाली रोड पर एक और कार के कांच फोड़े। जवाब में युवकों ने पथराव करने वालों पर पत्थर फेंके। पुलिस अधिकारी अतिरिक्त जाब्ते के साथ वहां आ गए और छात्रों को खदेड़ा। रातानाडा थाना पुलिस ने दोनों पक्षों के करीब दस छात्रों को गिरफ्तार किया। इनमें एनएसयूआई प्रत्याशी के समर्थक छात्र नेता चेतन ग्वाला, उसका भाई किशोर, वीरेन्द्र चौधरी, प्रकाश चौधरी, बबलू ऊर्फ सुरेन्द्र जाट तथा एबीवीपी प्रत्याशी के समर्थकों में गंगासिंह, लोकेन्द्रसिंह, विक्रमसिंह, जयपालसिंह व जितेन्द्रसिंह को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया। शाम को सभी छात्रों को जमानत पर छोड़ दिया गया।


सुरक्षा के कड़े घेरे में रहे मतदान केन्द्र-
जेएनवीयू छात्रसंघ चुनाव के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के उद्देश्य से पुलिस ने सोमवार को माकूल बंदोबस्त किए। सभी मतदान केन्द्र सुरक्षा के कड़े पहरे में रहे। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात रहा। शांतिपूर्ण मतदान व कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सुबह छह बजे से पुलिस अधिकारी व जवानों ने जेएनवीयू के पुराने परिसर, नए परिसर, केएन कॉलेज व एमबीएम इंजीनियरिंग कॉलेज को सुरक्षा घेरे में ले लिया। कोने-कोने में पुलिस ही पुलिस नजर आने लगी। सभी केन्द्रों के साथ ही हॉस्टल आदि जगहों पर 1159 अधिकारी व जवान तैनात रहे।
पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार वशिष्ठ के साथ ही पुलिस उपायुक्त डॉ अमनदीप सिंह कपूर व मोनिका सेन और आईपीएस अधिकारी व सहायक पुलिस आयुक्त सुधीर चौधरी व एडीसीपी अनंत कुमार लगातार गश्त करते रहे।


नए परिसर के बाहर छात्रों को खदेड़ा
मतदान के दौरान नए परिसर के बाहर छात्र-छात्राओं की भीड़ रही। जिन्हें बार बार पुलिस बल खदेड़ती रही। वहीं पुराने परिसर के बाहर जेल तिराहा व खास बाग तिराहे से रास्ता बंद कर देने से छात्र-छात्राएं एकत्रित नहीं हो पाए। केएन कॉलेज के बाहर भी पुलिस छात्रों को खदेड़ती रही। पुलिस कमिश्नर आलोक वशिष्ठ, पुलिस उपायुक्त डॉ अमनदीप सिंह कपूर व मोनिका सेन लगातार राउंड पर रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned