इस बार 28 अगस्त को नहीं भरेगा खेजड़ली मेला

मंदिर परिसर में मेलार्थियों का प्रवेश पूर्ण रूप से निषेध

पर्यावरण प्रेमियों से 363 शहीदों की याद में घरों के बाहर एक पौधा लगाने की अपील

By: Nandkishor Sharma

Updated: 23 Aug 2020, 11:08 PM IST

जोधपुर. पेड़ों की रक्षार्थ प्राणों का परित्याग करने वाले 363 लोगों की याद में हर वर्ष भाद्रपद शुक्ल पक्ष की दशमी
को सरदारसमंद रोड स्थित खेजड़ली में होने वाला पर्यावरण प्रेमियों का मेला इस बार कोरोना महामारी के कारण नहीं होगा। विश्नोई समाज के लोग प्रदेश के कोने-कोने सहित हरियाणा, पंजाब, उत्तरप्रदेश एवं मध्यप्रदेश से मेले में पहुंचकर शहीदों की स्मृति में बने स्मारक स्थल की परिक्रमा कर मां अमृतादेवी सहित सभी 363 शहीदों को श्रद्धासुमन और गुरु जम्भेश्वर के बताए 29 नियमों की पालना का संकल्प लेते है। खेजड़ली शहीदी राष्ट्रीय पर्यावरण संस्थान जोधपुर के कार्यवाहक अध्यक्ष व विधायक महेन्द्र विश्नोई व खेजड़ली धाम के महंत स्वामी शंकरदास ने वैश्विक महामारी कोरोनाकाल में केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के दिशा निर्देशों की पालना करते हुए इस वर्ष भाद्रपद शुक्ल पक्ष की दशमी 28 अगस्त का मेला पूर्ण रूप से स्थगित करने का निर्णय लिया है । उन्होंने बताया की मंदिर परिसर में भी मेलार्थियों का प्रवेश पूर्ण रूप से निषेध रहेगा। पर्यावरण प्रेमियों से मां अमृतादेवी व 363 शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि स्वरूप अपने अपने घरों में कम से कम एक - एक पौधा लगाने और घरों में ही हवन कर श्रद्धाजंलि देकर सहयोग करने की अपील की है।

Nandkishor Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned