लाफ्टर डोज बन रहे हैं प्रतीक के कॉमेडी वीडियोज, फन के साथ बढ़ा रहा है सोशल इश्यूज पर अवेयरनेस

लाफ्टर डोज बन रहे हैं प्रतीक के कॉमेडी वीडियोज, फन के साथ बढ़ा रहा है सोशल इश्यूज पर अवेयरनेस
लाफ्टर डोज बन रहे हैं प्रतीक के कॉमेडी वीडियोज, फन के साथ बढ़ा रहा है सोशल इश्यूज पर अवेयरनेस

Harshwardhan Singh Bhati | Updated: 06 Oct 2019, 10:38:38 AM (IST) Jodhpur, Jodhpur, Rajasthan, India

स्ट्रेसफुल लाइफ स्टाइल में छोटे-बड़े सभी यू-ट्यूब पर फनी वीडियोज देखना पसंद कर रहे हैं। इसमें भी अपनी भाषा और बोली का अंदाज अधिक गुदगुदाता है। इन दिनों जोधपुरी कॉमेडियन प्रतीक मूथा के वीडियोज और मीम्स न केवल लाइक और शेयर किए जा रहे हैं

जोधपुर. स्ट्रेसफुल लाइफ स्टाइल में छोटे-बड़े सभी यू-ट्यूब पर फनी वीडियोज देखना पसंद कर रहे हैं। इसमें भी अपनी भाषा और बोली का अंदाज अधिक गुदगुदाता है। इन दिनों जोधपुरी कॉमेडियन प्रतीक मूथा के वीडियोज और मीम्स न केवल लाइक और शेयर किए जा रहे हैं बल्कि पब्लिक-प्राइवेट इवेंट्स में फनी वीडियोज को रिक्रिएट करने की डिमांड की जाने लगी है। राजस्थानी भाषा का प्रयोग कर ठेठ देसी अंदाज में वीडियोज बना रहे प्रतीक ने बताया कि शुरुआत में हिंदी का उपयोग करते हुए वीडियोज बनाए थे। इनमें से एक वीडियो का एक सेगमेंट मारवाड़ी में था। जिसे लोगों से अधिक प्रशंसा मिली। फिर क्या था इसके बाद से अब अपनी भाषा में ही वीडियोज बनाए जा रहे हैं।

प्रतीक ने बताया कि बचपन से ही उसे फनी एक्ट्स करने का शौक रहा है। अधिक पढ़ाई से बचने के लिए वह छोटी कक्षाओं में पढऩे के दौरान कॉमेडी व मिमिक्री करता रहा। स्कूल के कई कार्यक्रमों में भी दर्शकों को गुदगुदाया। फिर कॉलेज लाइफ में यह सब कम होने पर उसने थिएटर ज्वाइन किया लेकिन यहां भी अपने मन का करने का मौका नहीं मिल पाया। इसपर उसे यू-ट्यूब पर वीडियोज बनाकर पोस्ट करने का विचार आया। मार्च 2018 में बड़े भाई के साथ वीडियो शूट करना शुरू किया। भाई की व्यस्तता के चलते उसने खुद ही इसे बनाने की शुरुआत की। लोगों के रिस्पॉन्स से उसे हौसला मिला।

लोकल कंटेंट से कनेक्शन
मूलत: नवचौकिया निवासी मूथा का कहना है कि मुंबई व दिल्ली के यू-ट्यूब्र्स अपनी लोकल भाषा और कंटेट पर काम कर हिट हो रहे हैं। इसपर उसे भी मारवाड़ी को ही अपनाने का आइडिया आया। इससे लोकल ऑडियंस जल्दी कनेक्ट होने लगी। उसने बताया कि कंटेंट का समसामयिक होना अधिक महत्वपूर्ण हैं। वह अपने वीडियो की स्क्रिप्ट, शूटिंग, एक्टिंग और एडिटिंग अपने स्तर पर ही कर रहा है। 50 से अधिक वीडियोज बनाए हैं जो सोशल इश्यूज पर आधारित हैं। यू-ट्यूब पर 14 हजार सब्सक्राइब्र्स हैं और 10 लाख लोग उसके वीडियोज देख चुके हैं।

दादा पर बेस्ड है दासा का कैरेक्टर
सोशल कंटेंट में ह्यूमर का प्रयोग कर रहे प्रतीक ने बताया कि अपने वीडियोज में दासा का कैरेक्टर उसके अपने दादाजी पर आधारित है। उसने बताया कि जैसे उसके दादा बातें किया करते थे उसने उन्हीं को कॉपी किया है और आज दादा का कैरेक्टर लोगों के बीच टॉकिंग पॉइंट है। वहीं मदर्स डे पर अपनी माता शोभा मूथा के साथ बनाया वीडियो भी खासा लोकप्रिय रहा। इसी तरह वह अपने आसपास के लोगों को देख कर ही कैरेक्टर्स बिल्ड करता है। प्रतीक का मानना है कि कड़ी मेहनत से ही सफलता अर्जित की जा सकती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned