पत्नी ने देवर के साथ मिलकर रची साजिश, पति को पिलाई शराब गमछे से गला घोंट उतार दिया मौत के घाट

रिश्ते हुए तार-तार...
-चचेरे देवर से प्रेम प्रसंग, पत्नी ने ही रची पति की हत्या की साजिश, उतारा मौत के घाट
-देवर, भाभी सहित सहयोगी गिर$फ्तार, पुलिस ने 5 दिन में सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी

By: Gopal Joshi

Published: 18 Feb 2021, 07:49 PM IST

खरगोन.
बिस्टान थानाक्षेत्र के ग्राम सेजला में 5 दिन पहले खेत के नजदीक तलाई की ढलान पर पुलिस को शव मिला। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच की रिश्तों को तार-तार करने वाली बानगी सामने आई। दरअसल यह मामला हत्या का निकला। अवैध प्रेम प्रसंग के चलते पत्नी ने ही देवर व उसके साथी के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतारा। पुलिस ने अंधे कत्ल का पर्दाफाश करते हुए आरोपी पत्नी, देवर व उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है। महिला पर अपने ही देवर से शादी रचाने की चाहत में पति को रास्ते से हटाने का षडय़ंत्र रचने की कहानी सामने आई है।
गुरुवार को मामले का खुलासा करते हुए एसपी शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया 13 फरवरी को सेजला (यशवंतगढ़) के नजदीक सदु के खेत के पास बनी तलाई की ढाल के नीचे एक शव मिला। मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक की शिनाख्त रामा नवलसिंह (35) निवासी मेहरघट्टी के रूप में की। मौका मुआयना करने पर मृतक के गले में उसी का गमछा गांठ बांधा हुआ मिला। पीएम रिपोर्ट में हत्या गला घोंटकर होना बताई गई। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो चौकाने वाला मामला सामने आया।

चचेरे देवर से महिला के अवैध संबंध
एसपी ने बताया पुलिस जांच में मृतक की पत्नी गुड्डीबाई के गांव में ही रहने वाले चचेरे देवर कालू गणपत से अवैध संबंध थे। इसके आधार पर पूछताछ शुरू की। पुलिस ने सख्ती दिखाई तो दोनों टूट गए। कालू ने दोस्त अनिल उर्फ ठुलिया पिता चैनसिंग निवासी आगरबाई के साथ मिलकर सुखराम की हत्या का अपराध कबूला। गुड्डीबाई कालू से शादी करना चाहती थी, इसलिए उसने सुखराम की हत्या की साजिश रची।

मारने से पहले खूब पिलाई शराब, फिर मौत के घाट उतारा
पुलिस के मुताबिक गुड्डीबाई पति सुखराम को सेजला गांव शराब पिलाने के बहाने ले गई। वहां खूब शराब पिलाई। लौटते समय कालू और उसका दोस्त अनिल बाइक से रैकी करते हुए दूसरे रास्ते से घटनास्थल पहुंचे। मेरघट्टी पहुंचने पर सुनसान इलाका देख कालू और गुड्डीबाई ने सुखराम के साथ झूमाझटकी शुरू कर दी। अनिल आने- जाने वालों की निगरानी रखने लगा।

पत्नी ने पकड़े हाथ, सुखराम ने घोंट दिया गला
पुलिस ने बताया गुड्डी ने सुखराम के हाथ पकड़े। कालू ने उसके गले मेें पड़े गमछे से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। सुखराम के निढाल होने के बाद शव को उठाकर सेजला सदु के खेत के पास ले जाया गया। यहां तलाई की ढलान के नीचे शव फेंककर फरार हो गए।

Gopal Joshi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned