scriptProfit business - 70 crops taken in 12 months from one hectare field | लाभ का धंधा-किसान ने एक हेक्टेयर खेत से 12 माह में ली 70 फसलें | Patrika News

लाभ का धंधा-किसान ने एक हेक्टेयर खेत से 12 माह में ली 70 फसलें

एक हेक्टेयर रकबे में 70 तरह की फसलें उगाई है। यह कारनामा उन्होंने महज एक साल में कर दिखाया।

खरगोन

Published: January 21, 2022 03:44:14 pm

खरगोन. कृषि क्षेत्र में खरगोन अपनी एक अलग पहचान बना रहा है। यहां के किसानों ने कपास व मिर्ची के रिकॉर्ड तोड़ उत्पादन कर पहले ही निमाड़ का नाम देश-दुनिया में रोशन किया है अब खेती में नवाचार कर आत्मनिर्भर बनने की दिशा में भी कदम रहे हैं।

kisaan.jpg

इसका ताजा उदाहरण बिस्टान क्षेत्र के किसान अविनाश दांगी ने पेश किया है। दांगी ने एक हेक्टेयर रकबे में 70 तरह की फसलें उगाई है। यह कारनामा उन्होंने महज एक साल में कर दिखाया। मॉडल का सबसे खूबसूरत पहलू यह है कि इससे हर मौसम में लगातार आय संभव है। अविनाश इसके पहले भी 5 जिला स्तरीय पुरस्कार, 5 निजी कंपनियों के पुरस्कार के साथ। जैव विविधता के क्षेत्र में राज्य स्तरीय सम्मान, आर्गेनिक इंडिया द्वारा वर्ष 2019 में नेशनल डायनलिस्ट की टॉप टेन की सूची में शामिल हो चुके हैं।

अविनाश ने कहा- जैविक व प्राकृतिक खेती के संदर्भ में यह मॉडल मल्टी लेयर मल्टी क्रॉप रुट फॉरेस्ट फैमिली फार्मिंग मॉडल है। मल्टी लेयर से मतलब है भूमि के अंदर से ऊपर तक 5 से 6 परतों में विभिन्न फसलों की खेती करना । इस मॉडल में 4 से 5 वर्ष में प्राकृतिक पॉली हॉउस का निर्माण होगा। अभी मौसम के अनुकूल ही फसलें लगाई हैं।

इन फसलों की खेती में जुटे हैं अविनाश

इसमें ग्रीन व ब्लेक बॉकचोय, ग्रीन व रेड लेट्यूस, बाकला, बरबति, ब्रोकली, फ्रेंच बिन्स के अलावा फूलगोभी, लाल व सफेद मूली, हरी पत्तागोभी, पर्पल, रंगीन व ऑरेंज फूलगोभी, पालक, मेथी, पपीता, सुरजना, केला, सीताफल, अमरूद, नारियल, मोसंबी, संतरा, आम, निम्बू, कटहल, चीकू, सेवफल, अंजीर, हरा आँवला, जामुन, अनार, वॉटर एप्पल, लीची, चेरी, फालसा, काजू रामफल के हैं।

ऐसे बनाई कार्ययोजना

अविनाश ने नवाचार की शुरुआत जून 2021 में की। जून 2022 तक का लक्ष्य रखा है। इस एक वर्ष में वे 70 तरह की विभिन्न फसलों की खेती का लाजवाब प्रयोग कर रहे हैं। इनके खेत में अभी 18 तरह की सब्जियां, 32 तरह के फल और 4 मसाले वाली फसलें लगी हैं।

यह भी पढ़ें : पांच सहेलियों की मेहनत रंग लाई : घर में तैयार कर रही एलोविरा, नींबू, चंदन और गुलाब फ्लेवर के साबुन

एक लाख का फायदा

जून 2021 से दिसंबर 2021 तक अविनाश हरा धनिया, मूंगफली, उड़द, गेंदाफूल और स्वीट कॉर्न की उपज ले चुके हैं। इससे उन्हें लगभग 1 लाख का लाभ हुआ है। वर्तमान में अविनाश के मॉडल में 53 फसलें हैं। अविनाश के खेत में अभी चना, प्याज, अदरक सुरजना, पपीता, हल्दी अरहर, गाजर, ब्लैक बॅकचोय भी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अफगानिस्तान के काबुल में भीषण धमाका, तालिबान के पूर्व नेता की बरसी पर शोक मना रहे लोगों को बनाया गया निशानाPunjab Borewell Accident: बोरवेल में गिरे 6 साल के बच्चे की नहीं बचाई जा सकी जान, अस्पताल में हुई मौतBJP को सरकार बनाने के लिए क्यूँ जरूरी है काशी और मथुरा? अयोध्या से बड़ा संदेश देने की तैयारी..पश्चिम बंगाल का पूर्व मेदिनीपुर जिला बम धमाकों से दहला, तलाशी के दौरान बरामद हुए 1000 से अधिक बमIPL 2022, SRH vs PBKS Live Updates: पंजाब ने हैदराबाद को 5 विकेट से हरायाकपिल देव के AAP में शामिल होने की चर्चा निकली गलत, सोशल मीडिया पर पूर्व कप्तान ने खुद साफ की स्थितिआख़िर क्यों असदुद्दीन ओवैसी बार-बार प्लेसेज ऑफ़ वर्शिप एक्ट का रो रहे हैं रोना, यहां जानेंपुजारा और कार्तिक की टीम में वापसी, उमरान मालिक को भी मिला मौका, देखें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे का पूरा स्क्वाड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.