वह शौहर वापस चाहती है, लेकिन ससुर करना चाहता है ‘हलाला'

बहू से सौदेबाजी... दोबारा निकाह के लिए शौहर के वालिद ने बहू के साथ हलाला करने की शर्त रखकर नुसरत को चौंका दिया।

By: आलोक पाण्डेय

Published: 08 Feb 2018, 03:48 PM IST

बरेली/लखनऊ . दहेज के लिए शौहर ने कुछ अरसा पहले तीन तलाक देकर घर से बेदखल कर दिया था। अब मियां-बीवी रजामंदी से साथ रहने को तैयार हैं, लेकिन शौहर के पिता यानी ससुर ने हलाला की शर्त रखकर अपनी बहू को उलझन में फंसा दिया है। ससुर चाहता है कि बहू सिर्फ उसी के साथ हलाला करे, इसी के बाद शौहर के साथ दोबारा निकाह होगा। बहू ने मजबूर होकर स्थानीय पुलिस में गुहार लगाने के साथ-साथ डीजीपी आफिस और सीएम हाउस में अपनी व्यथा को खत के जरिए भेजकर इंसाफ मांगा है।


शौहर है शराबी और ससुर अय्याश

मामला बरेली के किला थानाक्षेत्र की नुसरत से जुड़ा है। थाने में दर्ज शिकायत में नुसरत ने आरोप लगाया है उसका ससुर उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाना चाहता है। बरेली पुलिस के मुताबिक, नुसरत का निकाह तीन साल पहले बारादरी थानाक्षेत्र के सलीम के साथ हुआ था। शराबी शौहर आए दिन रुपए की मांग को लेकर नुसरत के साथ मारपीट करता था। एक दिन बात बढऩे पर शौहर ने नुसरत को तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया। इसके बाद से नुसरत अपने मायके चली गई। कुछ दिन बाद नुसरत ने ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया।

 

दोबारा निकाह के लिए हलाल की शर्त

नुसरत का आरोप है कि कुछ दिन पहले उसके शौहर ने गलती के लिए माफी मांगते हुए साथ रहने की इच्छा जताई तो वह भी तैयार हो गई। दोबारा निकाह के लिए शौहर के वालिद ने बहू के साथ हलाला करने की शर्त रखकर नुसरत को चौंका दिया। ससुर की हरकतों से आजिज नुसरत को ऐसी शर्त की उम्मीद नहीं थी। उसने ससुर को समझाना चाहा तो दो टूक जवाब मिला कि बेरोजगार बेटे के साथ दोबारा निकाह करने के लिए इस शर्त को पूरा करना जरूरी है। नुसरत की अम्मी ने भी आरोपों को सच बताते हुए कहाकि उसने भी बेटी के ससुराल वालों को समझाना चाहा तो ससुर ने हलाला की शर्त को दोहराया। इस शर्त के बाद नुसरत ने बारादरी थाने में पति, सास, ससुर, जेठ और देवर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के साथ ही डीजीपी और सीएम से जल्द इंसाफ के लिए गुहार लगाई है। बरेली के एसपी सिटी रोहित सजवाण ने इस मामले में कहा है कि नुसरत की शिकायत मिली है, मामले की जांच के बाद आगे की कार्रवाई होगी।

Show More
आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned