CM Yogi Adityanath ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप, अब किसानों को घर बैठे मिलेगा उनकी जमीन-जायदाद का ब्योरा

CM Yogi Adityanath ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप, अब किसानों को घर बैठे मिलेगा उनकी जमीन-जायदाद का ब्योरा

Hariom Dwivedi | Updated: 19 Jun 2019, 05:25:51 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- CM Yogi Adityanath ने कहा- जल्द ही प्रदेश के सभी Lekhpal को दिये जाएंगे Laptop
- मुख्यमंत्री ने कहा- तकनीक से कम होंगे संगठित अपराध
- मतदाता सूची को भी अपडेट करवा सकेंगे लेखपाल

लखनऊ. किसानों को अब खसरा-खतौनी की जानकारी के लिए तहसील या साइबर कैफे नहीं जाना पड़ेगा। लैपटॉप (Laptop) की मदद से लेखपाल किसानों घर बैठे ही उनकी जमीन-जायदाद का ब्योरा दे पाएंगे। इसके अलावा आय, जाति, मूल निवास प्रमाण पत्र ऑनलाइन होने की वजह से लेखपालों (Lekhpal) की रिपोर्ट भी समय से लग सकेगी और उन्हें भारी-भरकम बस्ते का बोझ भी ढोने से राहत मिलेगा। बुधवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath ) ने लोकभवन में 21 राजस्व लेखपालों को लैपटॉप बांटे। उन्होंने कहा कि लेखपाल अब फील्ड में रहकर भी अपनी रिपोर्ट भेज सकेंगे, जिससे सरकारी कामों के निपटारे में तेजी आएगी। जल्द ही उत्तर प्रदेश के सभी लेखपालों को लैपटॉप दिये जाएंगे और उन्हें लैपटॉप ऑपरेट करने की ट्रेनिंग भी दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते दो वर्षों में राजस्व विभाग में कई महत्वपूर्ण कार्य हुए हैं। आय, जाति, निवास प्रमाणपत्र को ऑनलाइन किया गया है। खसरा और सजरा पर भी ऑनलाइन करने को लेकर कार्यवाही चल रही है। राजस्व परिषद के अध्यक्ष प्रवीर कुमार ने कहा कि सभी प्रक्रियाओं को ऑनलाइन कर दिया गया है और खतौनी भी डिजिटाइज्ड है। सभी 7 करोड़ 65 लाख गाटों को डिजिटल कोड दिया गया है, जिसकी सहायता से तालाब, चारागाह, प्लॉट्स आदि से सम्बंधित जानकारी निकाली जा सकती है।

यह भी पढ़ें : यूपी में बड़ी जीत का जेपी नड्डा को मिला ईनाम, बने भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष, सामने हैं यह चुनौतियां

प्रदेश सरकार लेखपालों को आधुनिक सुविधाओं से लैस करना चाहती है। इसके लिए लेखपालों को लैपटॉप दिए जा रहे हैं। सरकार की कोशिश है कि गांवों में जन्म-मृत्यु या इसी तरह की अन्य सभी सुविधाएं ऑनलाइन होने के साथ ही लेखपालों को काम में असानी हो। आय, जाति, मूल निवास प्रमाण पत्र ऑनलाइन होने की वजह से लेखपालों के लिए लैपटॉप जरूरी हो गया है। लैपटॉप की मदद से लेखपाल फील्ड पर रहकर भी अपनी रिपोर्ट भेज सकेंगे, जिससे राजस्व मामलों के निपटारे में तेजी आ सकेगी। उन्होंने कहा कि वोटर लिस्ट में वास्तिवक मतदाताओं ने नाम चढ़ पाते हैं। अभी भी राज्य की मतदाता सूची में 25 से 30 फीसदी फर्जी मतदाता जुड़े हैं। लेखपालों को इस पर भी ध्यान देना होगा।

तकनीक से कम होंगे संगठित अपराध : मुख्यमंत्री
लोकभवन में आयोजित लैपटॉप वितरण कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि थाना और तहसील दिवस में लेखपालों की बड़ी भूमिका होती है। लेखपाल जिनती तत्परता से आम लोगों से जुड़ी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं, उन्हें करना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्व विवादों का समय से निपटारा न होने से राज्य की कानून-व्यवस्था बिगड़ती है। उन्होंने कहा कि अगर आमजन की छोटी-छोटी समस्याओं का शुरू में समाधान हो जाता है तो शासन-प्रशासन के प्रति लोगों का विश्वास गहरा होता है। लेकिन जब यही छोटे-छोटे विवाद बड़े विवाद का रूप ले लेते हैं तो बड़ी हिंसा, दंगे और उपद्रव होते हैं। इससे शासन की छवि भी प्रभावित होती है। ऐसी सभी समस्याओं के मूल में राजस्व का ही विवाद होता है। सीएम योगी ने कहा कि सूबे में कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिए तकनीक का इस्तेमाल बेहद जरूरी है। तकनीक की मदद से ही संगठित अपराधों को कम किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें : कन्या सुमंगला योजना के लिए यूपी के इस जिले नहीं आया एक भी आवेदन, जानें- क्या है Kanya Sumangla Yojana, किसे मिलता है इस योजना का लाभ

CM Yogi Adityanath

बाहर ही रखवा लिये गये लेखपालों मोबाइल फोन
लोकभवन में आयोजित लैपटॉप (Laptop) वितरण कार्यक्रम में शिरकत करने वाले सभी लोगों के फोन बाहर जमा करवा लिये गये। जानकारी के मुताबिक, अफसरों ही नहीं, बल्कि कार्यक्रम में आये लेखपालों (Lekhpal) के मोबाइल फोन बाहर ही जमा करवा लिये गये। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कैबिनेट बैठक के साथ ही समीक्षा बैठकों में भी मोबाइल फोन की एंट्री पर रोक लगा रखी है।

यह भी पढ़ें : राज्यपाल से मिले अखिलेश यादव, कहा- यूपी में जंगलराज जैसे हालात

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned