यूपी में अब तक तीन कोरोना संदिग्ध आइसोलेशन वार्ड से फरार, डॉक्टरों की बढ़ी मुश्किलें

- धारा 189 के तहत होगी कार्रवाई, भरना होगा तगड़ा जुर्माना
- कानपुर में कोरोना के 4 पॉजिटिव मरीज मिलने का फर्जी मैसेज वायरल, 4 के खिलाफ एफआइआर दर्ज

By: Neeraj Patel

Updated: 19 Mar 2020, 04:57 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मथुरा और बलिया से एक-एक कोरोना संदिग्ध मरीज जांच होने से पहले ही जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से फरार हो गया है। मथुरा में भी एक व्यक्ति कुछ दिन पहले विदेशी पर्यटकों के साथ मुम्बई से मथुरा पहुंचा था। उसकी तबीयत खराब होने के कारण उसको निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसकी जांच के दौरान उसमें कोरोना वायरस के लक्षण मिले थे। इसके बाद जब टीम जांच के लिए निजी अस्पताल पहुंची तो वह संदिग्ध फरार हो गया है। फिलहाल स्वास्थ्य विभाग के साथ ही पुलिस की टीम उसकी तलाश में लगी है। जैसे ही ये कोरोना संदिग्ध पकड़ में आते है तो उन पर धारा 189 के तरह कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उस पर भारी भरकम जुर्माना लगाया जा सकता है। इस मामले को लेकर कानपुर में कोरोना के 4 पॉजिटिव मरीज मिलने का फर्जी मैसेज भी वायरल हुआ। वायरल फर्जी मैसेज पर तुरंत एक्शन लेकर पुलिस द्वारा 4 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर ली गई है।

बलिया के जिला अस्पताल के आइसुलेशन वार्ड से भी एक संदिग्ध मरीज देर रात फरार हो गया। गुरुवार को 12 बजे तक उसका पता नही लगाया जा सका है। स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ गई है। बता दें कि कोरोना का संदिग्ध मरीज 14 मार्च को अपने साथियों के साथ मलेशिया से भारत अपने गांव लौटा था। तेज बुखार सर्दी खासी जुकाम और सांस फूलने की शिकायत के बाद उसे बुधवार सुबह 10 बजे आईसोलशन वार्ड में दाखिल कराया गया था। चिकित्सकों ने प्राथमिक परीक्षण के बाद कोरोना जांच के लिए टीम को सूचित कर दिया था, लेकिन सेंपल लेने से पहले ही जब विभाग के कर्मचारियों ने वार्ड मवन जाकर देखा तो वो वहां नहीं था। पूरे अस्पताल में हड़कम्प मच गया।

विभाग इस बात से परेशान है कि अगर उसे जल्द पकड़ा न जा सका तो ये वायरस कई और को भी जड़ में ले सकता है। वहीं दूसरी ओर सहारनपुर में चीन से लौटे युवक की जांच पूरी होने के बाद रिपोर्ट भी आ गई है। इसमें कोरोना वायरस के कोई भी लक्षण नहीं मिला है। योग गुरु नीरज चीन में अपनी क्लास लगाते थे। सहारनपुर में गागलहेड़ी के निवासी योग गुरु चीन से 12 मार्च को लौटे थे।

रोशनदान तोड़कर भागा कोरोना संदिग्ध

यूपी के मिर्जापुर में भी कोरोना का एक संदिग्ध मरीज अस्पताल का रोशनदान तोड़कर भाग गया। मरीज के भागने की सूचना मिलते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। सोमवार देर रात मरीज को दोबारा उसी के घर से पकड़कर अस्पताल में एडमिट कराया गया। बता दें कि नेपाल से लौटे युवक को बुखार और गले में दर्द की शिकायत के बाद मंडलीय अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था। तत्काल अलर्ट जारी करते हुए जिलाधिकारी को भी इसकी सूचना दे दी गई थी। वहीं दुबई और काठमांडु से लौटे तीन संदिग्ध भर्ती हैं।

ये भी पढ़ें - कोरोना का संदिग्ध मरीज जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड से फरार, मचा हड़कम्प

कोरोना को लेकर बरतें सावधानी

बता दें कि देशभर में अब कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या में इजाफा हो रहा है। सभी को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। अभी तक 171 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। भारत में सिर्फ तीन लोगों की इससे मौत हुई है। कोरोना के दो नए मामले सामने आए। इसी बीच उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से अपील की है। अपील है कि 30 दिन कोरोना वायरस को लेकर सावधानी बरतें। सभी लोग सार्वजनिक क्षेत्रों में जाने से परहेज करें। इसके साथ ही किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें। अगर बुखार या खांसी की शिकायत है तो स्वास्थ्य केंद्र जाएं।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned