71,400 बेटियों की शादी कराएगी योगी सरकार, मोबाइल के साथ अन्य गिफ्ट भी देगी सरकार

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत पहले चरण में उत्तर प्रदेश सरकार 71,400 बेटियों की शादी कराएगी।

By: Laxmi Narayan

Published: 10 Feb 2018, 04:23 PM IST

लखनऊ. भारतीय जनता के प्रदेश प्रवक्ता ने कहा है कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत पहले चरण में उत्तर प्रदेश सरकार 71,400 बेटियों की शादी कराएगी। प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि आर्थिक तौर पर कमजोर परिवारों के लिए मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना वरदान साबित हो रही है। इस योजना में तीस प्रतिशत अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग की, 35 फीसदी अन्य पिछड़े वर्ग की, 20 प्रतिशत सामान्य वर्ग की और 15 प्रतिशत अल्पसंख्यक वर्ग की बेटियां शामिल होंगी।

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि इस योजना के जरिए अलग-अलग जिलों में सरकारी खर्चे पर गरीब बेटियों की धूमधाम से शादी कराई जा रही है। मुख्यमंत्री के आशीर्वाद के तौर पर बेटियों को उपहार भी दिया जा रहा है। आनलाइन रजिस्ट्रेशन के जरिए कोई भी अपने विवाह के लिए इस योजना में रजिस्ट्रेशन करा सकता है। सरकार अपने खर्चे पर ऐसे जोड़ों की शादी कराएगी। शलभ ने कहा कि हर जिले में इस योजना को लेकर जरूरतमंद लोगों का रूझान देखने को मिल रहा है। समाज के लोगों को भी सरकार की इस योजना में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेना चाहिए और ऐसे परिवारों को चिन्हित कराने में अपना योगदान देना चाहिए, जिनको इसकी जरूरत है।

प्रदेश प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा कि आर्थिक तौर पर कमजोर परिवारों के लिए बेटियों की शादियां हमेशा से एक चिंता का कारण रहती थीं। कई बार पैसे की कमी के चलते युवाओं की शादियां तक नहीं हो पाती थीं। इसे ही देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में प्रदेश सरकार ने सामूहिक विवाह योजना शुरू की है। इस योजना के तहत कोई भी आनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर सामूहिक विवाह के इस अभियान का लाभ ले सकता है। अधिकारियों को भी निर्देश हैं कि वे सर्वे के आधार पर ऐसे परिवारों का चयन करें जो आर्थिक तौर पर कमजोर हैं और पैसों की कमी के चलते बच्चों का विवाह नहीं कर पा रहे हैं। खासतौर पर समाज कल्याण विभाग, जिलों के जिलाधिकारियों और नगर निगम व नगर पंचायतों के अधिशाषी अधिकारियों को ऐसे परिवारों को चिन्हित कर उनकी मदद करने का निर्देश दिया गया है।इस योजना के तहत हर जोड़े पर 35 हजार रूपए खर्च किए जा रहे हैं। उपहार के तौर पर घरेलू सामान और एक मोबाइल फोन भी दिया जा रहा है। शादी के लिए बेटियों को कपड़े और गहने भी सरकार की तरफ से दिए जा रहे हैं। सामूहिक विवाह के इस आयोजन में टेंट से लेकर भोजन और पेयजल तक का इंतजाम सरकार की तरफ से किया जा रहा है। इस विवाह योजना के जरिए विवाह कर रहे जोड़ों को आशीर्वाद देने के लिए अलग-अलग जगहों पर जनप्रतिनिधियों के साथ ही साथ समाज के सम्मानित लोग भी आ रहे हैं। विवाह करने वाले जोड़े को बीस हजार रूपए का अनुदान भी दिया जा रहा है।

Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned