scriptUttar Pradesh 100 crores Business of Gems form Sri Lanka Now in Crises | कहीं श्रीलंका से तो नहीं आपका किस्मत कनेक्शन, जिंदगी बदलने वाले रत्नों का आयात बंद, ‘गृहदशाओं’ पर पड़ेगा ये असर | Patrika News

कहीं श्रीलंका से तो नहीं आपका किस्मत कनेक्शन, जिंदगी बदलने वाले रत्नों का आयात बंद, ‘गृहदशाओं’ पर पड़ेगा ये असर

Price Hike of Gems in Uttar Pradesh: रत्न लोगों की किस्मत बदल देते हैं। लेकिन महंगाई ने अब इस पर भी ग्रहण लगा दिया है। श्रीलंका में मंदी के बाद रत्नों की कीमत न केवल दोगुनी हो गई बल्कि मिलना मुश्किल हो रहा है।

लखनऊ

Updated: May 13, 2022 12:44:39 pm

श्रीलंका इन दिनों आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। लेकिन श्रीलंका की आर्थिक मंदी से आपकी 'गृहदशा' पर भी सर पड़ेगा। इसकी वजह ये है कि लंका से रत्नों का आयात 80 प्रतिशत बंद हो गया है। इसका असर आपके ग्रह-नक्षत्र पर पड़ने वाला है। आयात बंद होने से भारतीय रत्न के बाजार में बड़ा प्रभाव पड़ा है। कीमतों में 25 फीसदी तक उछाल आ गया है। मांग में तेजी और आपूर्ति बहुत कम होने से रत्नों की कालाबाजारी शुरू हो गई है। बाजार में सबसे अधिक मांग वाले रत्न महंगे होने के साथ बाजार शॉर्ट हो गए।
लंका ये आयात होते हैं ये 75 रत्न
पिछले चार दशक में श्रीलंका रत्न और खनिजों का बड़ा उत्पादक बनकर उभरा है। करीब 75 प्रकार के रत्न लंका में उपलब्ध हैं। पुखराज, मूंगा, नीलम, माणिक, पन्ना आदि ऐसे तमाम रत्न हैं जो नहीं आ रहे है। लंका में इनके महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वहां की अर्थव्यवस्था में इन कीमती खनिजों का खासा योगदान है। 3000 हजार विनिर्माण इकाइयों में दो लाख से ज्यादा लोग रत्न कारोबार से जुड़े हैं।
Uttar Pradesh 100 crores Business of Gems form Sri Lanka Now in Crises
Uttar Pradesh 100 crores Business of Gems form Sri Lanka Now in Crises
यह भी पढ़ें

विदेशों से तस्करी करके पीयूष जैन लाया 23 किलो सोना, 430 पन्नों की चार्जशीट में क्या


लंका के माने जाते हैं असली और सबसे बेहतर रत्न
श्रीलंका के रत्न दुनिया में सबसे अच्छी क्वालिटी के माने जाते हैं। वहां के कोरन्डम (मूंगा समूह के रत्न) और नीलम को दुनिया में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। पीला नीलम, नीला नीलम, माणिक्य की भी एडवांस बुकिंग रहती है। श्रीलंका से रत्न और आभूषण व्यापार 140 मिलियन डालर (करीब 1000 करोड़) से ज्यादा है। बदहाल होने के बाद रत्नों का आयात 80 फीसदी खत्म हो गया है। यूपी सराफा एसोसिएशन के सदस्य राकेश गोयल के अनुसार पुखराज की कीमत 25 फीसदी बढ़ गई है। 1500 रुपए रत्ती से 15000 रुपए रत्ती तक के पुखराज में सबसे ज्यादा महंगाई का असर है। यही हाल मूंगा, माणिक्य और पन्ना का है, जिनके दाम 150 रुपए से 700 रुपए रत्ती तक बढ़ गए हैं। नीलम में 40 फीसदी की तेजी आ गई है। बिना रेशे का 10 रत्ती का पारदर्शी नीलम एक लाख रुपए से ऊपर बिक रहा है।
यह भी पढ़ें

छत पर लगवाओ सोलर पैनल, बिजली का बिल ‘जीरो’, सरकार भी दे रही पैसा


कोरोना के बाद भी रत्न बाजार में पड़ा था असर
कोरोना का असर रत्नों पर भी पड़ा था। रत्न कारोबारी डॉ सौरभ शुक्ला ने बताया कि संकट से घिरे लोगों का रत्नों में भरोसा कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है। ऐसे लोग ज्योतिषियों की सलाह से रत्न धारण करते हैं। कोरोना ने सबसे ज्यादा फेफड़े, दिल, किडनी, लिवर, गले और ब्लैक फंगस के रूप में आंखों पर हमला किया। ज्योतिषी इन अंगों की बीमारियों के लिए अलग-अलग रत्न पहनने का सुझाव देते हैं। पहले एक महीने में 70 से 85 माणिक तक बिकते थे। अब यह संख्या 250 से ऊपर पहुंच गई है। तनाव से उबरने के लिए मोती की बिक्री जबर्दस्त बढ़ गई।

यह भी पढ़ें

सौ करोड़ का कानपुर में बनेगा Mall, जानिए कितना बड़ा और क्या होंगी नई सुविधाएं

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकामानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'अजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.