एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग में है बेहतर कॅरियर, कमाएं लाखों घर बैठे

Career in Aquaponics: एग्रीटेक स्टार्टअप का सेक्टर स्टार्टअप वर्ल्ड में एंटरप्रेन्योर के बीच सबसे लोकप्रिय है। जो एंटरप्रेन्योर एग्रीकल्चर से जुड़े स्टार्टअप के साथ अपने कॅरियर की शुरुआत करना चाहते हैं, उनके लिए एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग बहुत अच्छा आइडिया साबित हो सकता है।

By: सुनील शर्मा

Published: 21 Sep 2019, 06:40 PM IST

मैनेजमेंट मंत्र

Career in Aquaponics: एग्रीटेक स्टार्टअप का सेक्टर स्टार्टअप वल्र्ड में एंटरप्रेन्योर के बीच सबसे लोकप्रिय है। इंडिया में वर्तमान में एग्रीटेक स्टार्टअप की संख्या 200 से अधिक है। इसके अलावा अनऑर्गनाइज स्टार्टअप की संख्या 1000 के करीब है। अब फॉर्मिंग के सेगमेंट में एक नया ऑप्शन एंट्री ले रहा है। इसे एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग कहते हैं।

ये भी पढ़ेः अगर इस तरह काम में लेंगे पैसा तो कुछ ही महीनों में बन जाएंगे करोड़पति

ये भी पढ़ेः Google दे रहा है भारतीय युवाओं नौकरी, देगा लाखों डॉलर का पैकेज, आज ही करें आवेदन

इसमें मछली पालन के साथ ऑर्गनिक फॉर्मिंग भी की जा सकती है। इंडिया में एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग का कल्चर नया है इसलिए अभी इस सेक्टर में स्टार्टअप की संख्या 10 के करीब है। इसलिए वो एंटरप्रेन्योर जो कि एग्रीकल्चर से जुड़े स्टार्टअप के साथ अपने कॅरियर की शुरुआत करना चाहते हैं या इस बारे में सोच रहे हैं उनके लिए एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग बहुत अच्छा आइडिया साबित हो सकता है।

ये भी पढ़ेः RPSC का कारनामाः -23 अंक लाने वाला बना टीचर, हाईकोर्ट में की अपील

ये भी पढ़ेः प्रतियोगी परीक्षाओं में पूछी जाती है English की इन टर्म्स की फुलफॉर्म

क्या है एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग
फॉर्मिंग के इस सेक्टर में मछलियों के साथ पौधे उगाए जाते हैं। यह हाइड्रोपोनिक्स फॉर्मिंग का ही एक वर्जन है। इसमें भी मिट्टी का उपयोग नहीं किया जाता है। वहीं एक्वापोनिक्स में भी मिट्टी का उपयोग नहीं किया जाता है। इसमें फिश टैंक का उपयोग किया जाता है और मछलियों के साथ पौधे उगाए जाते हैं। इसमें परंपरागत खेती की तुलना में केवल 10 प्रतिशत पानी का ही उपयोग किया जाता है, जबकि पौधों के बढऩे की रफ्तार दोगुनी होती है। इसका चलन सबसे अधिक इजरायल में है। यूरोप व अमरीका में भी यह फॉर्मिंग तेजी से जगह बना रही है।

ये भी पढ़ेः मनोज रावतः यूं तय किया कॉन्स्टेबल से IAS बनने का सपना, जानिए पूरी कहानी

ये भी पढ़ेः अपनी ड्रीम जॉब को पाने के लिए आजमाएं ये टिप्स, पक्का मिलेगी कामयाबी

इन्होंने की है शुरुआत
एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग में एंट्री करने से पूर्व आप ऐसे स्टार्टअप पर रिसर्च कर सकते हैं जो सक्सेसफुली यह कर रहे हैं। इनमें पहला नाम रेड ओटर का है। उत्तराखंड के नैनीताल का यह स्टार्टअप एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग के साथ फ्रैश फूड की होम डिलीवरी भी कर रहा है। स्टार्टअप की सक्सेस का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यह स्टार्टअप अगले दो वर्ष में इंडिया में 25 एक्वापोनिक्स फॉर्म लगाने की योजना पर कार्य कर रहा है। यही नहीं बंगलुरु का माधवी फार्म, चेन्नई स्थित फ्यूचर फॉर्म व क्रॉफ्टर भी सक्सेसफुली एक्वापोनिक्स फॉर्मिंग कर रहे है। आने वाले दिनों में यह लोकप्रिय हो सकता है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned