अगर आजमाएंगे ये टिप्स तो आपको करोड़पति बनने से कोई नहीं रोक सकता

आपको अपनी सोच और आदत के अनुरूप काम पूरे करने चाहिए, तभी आप वर्कप्लेस पर अपनी प्रोडक्टिविटी में इजाफा कर सकते हैं।

यदि आप अपने काम के साथ-साथ अपने जीवन को भी सही तरह से मैनेज करना चाहते हैं तो आपको अपनी प्रोडक्टिविटी पर गौर करना होगा। अगर आप प्रोडक्टिव वर्क नहीं करेंगे तो वर्कप्लेस पर आपको खराब एम्प्लॉई समझ लिया जाएगा। आपको हर नए असाइनमेंट को शुरू करते समय अपनी काम क्षमता में इजाफा करने के बारे में विचार करना चाहिए। अगर आप काम करते-करते परेशान हो जाते हैं और सफलता नहीं मिल पाती है तो आपको रुककर विचार करना चाहिए। अगर आपको लगता है कि आप भी प्रोडक्टिव बन सकते हैं तो आपको कुछ खास बातों को जीवन में उतार लेना चाहिए। जानते हैं इनके बारे में-

एक बार में एक काम करें
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के एक अध्ययन के मुताबिक जो लोग मल्टीटास्किंग करते हैं, काम पर पूरा ध्यान नहीं देते और तेजी से काम करने के आदी होते हैं, वे ज्यादा प्रोडक्टिव नहीं हो पाते हैं। इस तरह की आदतों से काम में बार-बार व्यवधान आता है। इसके बजाय यदि आप कोई काम करते समय किसी अन्य काम पर ध्यान नहीं देते हैं तो वह काम बेहतर तरीके से पूरा होता है। एक बार में एक काम करने से आप फोकस्ड रह पाते हैं। इसलिए आपको एक समय में एक ही काम पूरा करना चाहिए।

अपने लिए समय बचाकर रखें
प्रोडक्टिविटी के लिए माना जाता है कि आप कम समय में ज्यादा काम करें। सैद्धांतिक रूप से इससे आपको जीवन जीने के लिए ज्यादा समय मिल पाता है। व्यावहारिक रूप से इसका अर्थ ज्यादा काम होता है। बचे हुए समय को अपने लिए इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं। जब आप खुद को समय देते हैं तो आप खुश रह पाते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ वारविक का अध्ययन बताता है कि खुश रहने वाले कर्मचारी 12 फीसदी ज्यादा प्रोडक्टिव होते हैं। इसलिए अपने लिए समय बचाकर रखें।

मास्टरी हासिल करें
कई बार आप कड़ी मेहनत करते हैं, पर किसी काम में मास्टरी हासिल नहीं कर पाते हैं तो काम को पूरा करने में परेशानी आती है। काम में मास्टरी हासिल करने से कठिन से कठिन काम को भी आसानी से पूरा कर पाते हैं। आपको काम से जुड़े नए-नए अनुभव भी प्राप्त करने चाहिए। इन अनुभवों के कारण काम के दौरान हड़बड़ाहट नहीं होती है और आपकी प्रोडक्टिविटी बढ़ती है।

खुद के तरीके बनाएं
अगर कोई तरीका टाइप-ए पर्सनेलिटी पर फिट बैठता है तो जरूरी नहीं है कि वह आप पर भी फिट बैठे। खुद को समझना चाहिए और उसी हिसाब से तरीकों का निर्माण करना चाहिए। हो सकता है कि आपको लोगों से मिलना-जुलना और सोना ज्यादा पसंद हो। ऐसे में प्रोडक्टिविटी के लिए अन्य तरीकों के बारे में विचार करना चाहिए। पता करें कि कैसे खुद को प्रोडक्टिव बना सकते हैं।

काम को टुकड़ों में तोड़ लें
अगर आप सबसे जरूरी कार्यों को छोटे-छोटे कामों में तोड़ लेते हैं तो काम आसानी से पूरे हो जाते हैं। अपनी काम की लिस्ट में मौजूद सबसे कठिन काम को सबसे पहले पूरा कर लेते हैं तो आपको यकीन हो जाता है कि अब पूरा दिन आराम से गुजार सकते हैं और किसी तरह की परेशानी भी नहीं होगी। कठिन काम को भी टुकड़ों में तोडक़र पूरा कर लेना चाहिए।

सुनील शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned