स्टार्टअप शुरू कर रहे हैं तो पहले करें ये प्लानिंग फिर बनेंगे करोड़पति

अब आपका आइडिया बहुत अच्छा है, यूनिक है, आपने प्लानिंग भी बहुत अच्छी ही की है, आप मेहनत और रिस्क से किसी भी तरह से घबरा भी नहीं रहे हैं लेकिन आपकी मामूली गलती की वजह से बिजनेस फेल जाता है।

नब्बे फीसदी स्टार्ट अप तो शुरू होते ही फेल होने के लिए हैं, यह बात आपने जरूर सुनी होगी। हालांकि यह बात हमेशा सच नहीं होती और नब्बे स्टार्ट अप फेल नहीं होते। फेल होने वाले स्टार्ट अप की संख्या इससे काफी कम होती है लेकिन यह भी सच की किसी भी बिजनेस की शुरुआत में बहुत सारी मेहनत लगती है और इसमें रिस्क भी बहुत होता है। इसी रिस्क और मेहनत की वजह से कुछ आइडिया मूर्तरूप लेने से पहले ही दम तोड़ देते हैं।

अब आपका आइडिया बहुत अच्छा है, यूनिक है, आपने प्लानिंग भी बहुत अच्छी ही की है, आप मेहनत और रिस्क से किसी भी तरह से घबरा भी नहीं रहे हैं लेकिन आपकी मामूली गलती की वजह से बिजनेस फेल जाता है। ऐसे में या तो आपका स्टार्ट अप फेल जाता है और आप दूसरों के लिए उदाहरण बन जाते हैं और या फिर दूसरों के विफल उदाहरण से सबक लेकर खुद के स्टार्ट अप को सफलता की नई ऊंचाइयों पर पहुंचा सकते हैं। अपने स्टार्ट अप को शुरुआत से ही मजबूती प्रदान करने के लिए आपको कुछ गलतियां करने से बचना होगा। आइए जानते हैं कि ऐसी ही कुछ गलतियों के बारे में -

पूरी प्लानिंग नहीं
एक बिजनेस की शुरुआत के लिए एक आइडिया ही काफी होता है लेकिन इसे बनाए रखने के लिए प्लानिंग बहुत जरूरी होती है। कुछ लोगों को प्लानिंग करना काफी मुश्किल लग सकता है लेकिन अगर आप सही प्लानिंग नहीं करेंगे तो यह अंधेरे में तीर मारने जैसा होगा। सॉलिड प्लानिंग अकेला ऐसा महत्त्वपूर्ण स्टेप है, जिससे भविष्य में सफलता मिलेगी। अत: आपके पास क्लीयर स्टेप्स होने जरूरी हैं।

विफलता का डर
आपने भले ही तय कर लिया हो कि आप डरेंगे नहीं लेकिन यह भी उतना ही सच है कि आज भी विफलता का डर लोगों पर सबसे ज्यादा हावी होता है। लोग यह मानते हैं कि विफल हो गए तो सफलता नहीं मिलेगी लेकिन देखा जाए तो विफलता ही सफलता की कुंजी है। अपनी विफलता को सकारात्मक लेना सीखें। दुनिया के बहुत से सफल एंटरप्रेन्योर्स, बिजनेस की शुरुआत में विफल हुए थे लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। वह विफलता के डर से उबरे और अपनी तमाम गलतियों से सीख ली।

अकेले सब कुछ करने की चाहत
एक दिन में केवल 24 घंटे होते हैं और सच्चाई यही है कि आप अकेले सब कुछ नहीं कर सकते। अहंकार स्टार्ट अप ड्रीम का सबसे बड़ा दुश्मन है। रिक्रूटमेंट, मैनेजमेंट, लीगल, फाइनेंस एंटरप्रेन्योर्स के लिए समस्या खड़ी कर सकते हैं। इन सबके लिए ऐसे लोगों को ढूंढें, जो इन कामों में माहिर हों। आप सारे एम्प्लॉइज को मैनेज नहीं कर सकते और फिर धीरे-धीरे शॉर्टकट ढूंढने लगते हैं। आपका एचआर प्रभावित होने लगता है। इसका नतीजा यह होता है कि आपकी कंपनी सभी के लिए दुस्वप्न बन जाती है और आप सफलता के बजाय विफलता प्राप्त करते हैं।

पैसे को सब कुछ मानना
स्टार्टअप ओनर्स के पास एक बड़ा विजन होता है। वह इसके जरिए भारी पैसा कमाना चाहते हैं। इसलिए वह प्रॉडक्ट के लिए सही मार्केट खोजने और यूजर बेस बनाने की बजाय पैसा कमाने को तवज्जो देते हैं। अगर वह पैसा कमाने में सफल हो जाते हैं तो वह मान लेते हैं कि उनका बिजनेस सफल है लेकिन याद रखें कि हर साल बहुत पैसे वाले स्टार्ट अप भी फेल हो जाते हैं। अगर आप वास्तविक रूप में सफल होना चाहते हैं तो आपको मार्केट में लंबे समय तक टिकने पर जोर देना चाहिए तभी आप अपनी मंजिल को हासिल कर सकेंगे।

परफेक्शन का इंतजार
परफेक्शन के इंतजार ने बहुत से स्टार्ट अप्स को विफल कर दिया है। यदि आपके पास एक किलर आइडिया है तो फिर आप यह जरूर चाहते हैं कि आप इसे दुनिया के सामने सबसे अच्छे यानी परफेक्ट रूप से सामने लाया जाए। हालांकि, आपका शुरुआत से ही परफेक्शन का इंतजार करना बेमानी है। याद रखें कि आपका बिजनेस शुरुआत से ही परफेक्ट नहीं होगा, परफेक्ट बनाने के लिए आपको दिन-रात इस पर मेहनत करनी होगी, तभी सफलता मिलेगी।

मार्केटिंग नहीं करना
एक बिजनेस एक लोगो से कहीं बढक़र होता है। आपका ब्रांड बहुत अच्छा हो लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि आपको मार्केटिंग की जरूरत हर वक्त रहती है। याद रखें कि मौजूदा बजट को डवलपमेंट पर ही खर्च न करें, बल्कि कुछ बिजनेस की मार्केटिंग के लिए भी बचा कर रखें। दुनिया को जानने दें कि आपका बिजनेस क्या है।

सही टीम नहीं चुनना
सही टीम ढूंढना भी मुश्किल हो सकता है, इसलिए एंटरप्रेन्योर्स या छोटे बिजनेस ओनर्स को ऐसे पोटेंशियल कैंडिडेट्स को चुनना चाहिए, जो कंपनी के लिए सही हों। गलत टीम चुनने से न केवल पैसों का नुकसान होता है बल्कि इससे दूसरे एम्प्लॉयर्स का मोरल भी नीचे गिरता है। ऐसी टीम चुनें, जो पूरी ईमानदारी से अपनी राय आपको दे और आपका बिजनेस आगे बढ़ाए। हमेशा याद रखें कि एक सही और बेहतरीन टीम ही आपको सफलता दिलाएगी।

आधे-अधूरे प्रयास
बिजनेस की शुरुआत करनी है तो आपको पैशन और धैर्य की जरूरत होती है। यह चीजें नहीं होने पर आपकी जिंदगी से कई चीजें दूर हो सकती हैं। आपको चाहिए कि आप बिजनेस को समय दें और लक्ष्य की राह में आने वाली सभी चुनौतियां का सामना पूरी शिद्दत के साथ करें। अपनी समस्याओं को पूरे मन से सुलझाने का प्रयास करें।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned