शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों का रिकॉर्ड निवेश, सामने आए चौकाने वाले आंकड़े

  • एफपीआई ने नवंबर में भारतीय बाजारों में नेट 62,951 करोड़ रुपए का निवेश किया
  • डेट एवं बांड बाजार में एफपीआई का नेट निवेश 2,593 करोड़ रुपए का देखने को मिला

By: Saurabh Sharma

Updated: 29 Nov 2020, 01:41 PM IST

नई दिल्ली। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक नवंबर में लगातार दूसरे महीने भारतीय बाजारों में जबरदस्त निवेश किया है। एफपीआई ने नवंबर में भारतीय बाजारों में नेट 62,951 करोड़ रुपए का निवेश किया है। डिपॉजिटरी के आंकड़ों की माने तो एफपीआई ने नवंबर में शेयरों में नेट 60,358 करोड़ रुपए का निवेश किया जोकि एक रिकॉर्ड है। डेट एवं बांड बाजार में उनका नेट निवेश 2,593 करोड़ रुपए का देखने को मिला है। इस तरह तीन से 27 नवंबर के दौरान एफपीआई ने भारतीय बाजारों में नेट 62,951 करोड़ रुपए का इंवेस्टमेंट किया है।

यह भी पढ़ेंः- कोरोना काल में इन पांच कारणों से बढ़ी भारत की विदेशी दौलत, आखिर क्या है इसका राज

चरम पर निवेश
जानकारों की मानें तो वैश्विक निवेशक विकसित बाजारों की तुलना में उभरते बाजारों में निवेश को प्राथमिकता दे रहे हैं। इसकी वजह है कि उभरते बाजारों में उन्हें लाभ होने की अधिक संभावना है। यही कारण है कि भारत में विदेशी निवेशकों का निवेश अपने चरम पर है। वहीं दूसरी ओर भारत में रिटर्न भी अच्छा देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ेंः- पहले छह महीनों में आया 30 अरब डॉलर का एफडीआई, जानिए किस देश ने किया सबसे ज्यादा निवेश

बैंकिंग सेक्टर में ज्यादा निवेश
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एफपीआई ने भारत में कुछ बड़ी कंपनियों में निवेश किया है। उनका ज्यादातर निवेश बैंकिंग सेक्टर में देखने को मिला है। ऐसे में उनका निवेश का प्रवाह कुछ शेयरों में केंद्रित है। नवंबर में कुछ अनिश्चितताएं पीछे रह गई हैं। जिसमें अमरीकी चुनाव एक बड़ी अनिश्चितता है। विकसित बाजारों की तुलना में आकर्षक मूल्यांकन तथा डॉलर की कमजोरी की वजह से भी एफपीआई भारतीय बाजारों में निवेश कर रहे हैं।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned