Gold And Silver Price में बड़ी गिरावट, एक साल के निचले स्तर पर पहुंचे दाम

Gold And Silver Price : सोमवार को भारतीय वायदा बाजार मल्टी कमोडिटी इंडेक्स में 792 रुपए प्रति दस ग्राम की गिरावट देखने को मिली। वहीं चांदी 646 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुई।

By: Saurabh Sharma

Updated: 30 Mar 2021, 09:03 AM IST

Gold And Silver Price। अमरीकी डॉलर में आई मजबूती के आगे सोना एक बार फिर कमजोर पड़ गया है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोमवार को सोने के भाव में एक फीसदी से ज्यादा की कमजोरी आई। कमजोर वैश्विक संकेतों से घरेलू वायदा बाजार में भी सोने का भाव 792 रुपए प्रति 10 ग्राम से ज्यादा टूटा और चांदी भी एक फीसदी से ज्यादा फिसली। जानकारों की मानें तो सोने और चांदी की कीमत ( Gold And Silver Price ) में गिरावट की मुख्य वजह दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर डॉलर इंडेक्स का सोमवार को फिर मजबूती आना है। डॉलर इंडेक्स बीते सत्र से 0.09 फीसदी की बढ़त के साथ 92.85 पर बना हुआ था। इस गिरावट के कारण भारतीय वायदा बाजार में सोने और चांदी की कीमत एक साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है। खास बात तो ये है कि आने वाले दिनों में शादियों का सीज शुरू होने वाला है। ऐसे में आम लोगों के लिए बड़ी राहत है।

देश और विदेश में सोने का भाव
मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर सोमवार को रात 11 बजकर 30 बजे बाजार बंद हुआ तो सोने का अप्रैल अनुबंध भाव 792 रुपए की कमजोरी के साथ 43850 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ। वहीं, चांदी के मई अनुबंध में बीते सत्र से 646 रुपए की गिरावट के साथ 64,159 रुपए प्रति किलो पर बंद हुई। वैश्विक बाजार कॉमेक्स पर सोने के जून अनुबंध में मौजूा सत्र में 7.80डॉलर की गिरावट के साथ 1,706.80 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था। वहीं, चांदी के मई अनुबंध मौजूदा समय में 0.59 फीसदी की गिरावट के साथ 24.63 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा है। जानकार बताते हैं कि आर्थिक आंकड़ों से अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मजबूती के संकेत मिलने और कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम में प्रगति से डॉलर में मजबूती देखी जा रही है। डॉलर जब मजबूत होता है तो उसमें निवेश मांग बढऩे से बुलियन की चाल मंद पड़ जाती है।

क्या कहते हैं जानकार
कमोडिटी बाजार के जानकार केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि डॉलर में आई मजबूती से वैश्विक बाजार में सोने और चांदी में आई कमजोरी के कारण देश के वायदा बाजार में बुलियन में नरमी का रुख बना हुआ है। केडिया ने कहा कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम की प्रगति और अर्थव्यवस्थाओं में रिकवरी के संकेत मिलने से बुलियन में निवेश मांग सुस्त पड़ गई है जिसके चलते सोने और चांदी दोनों में गिरावट आई है।

वहीं दूसरी ओर आईआईएफएल सिक्योरिटीज के कमोडिटी एंड करंसी रिसर्च के वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता ने बताया कि मौजूदा समय में इकोनॉमी में रिकवरी देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से सोना और चांदी के दाम में गिरावट देखने को मिल रही है। सोना और चांदी की कीमत एक साल के निचले स्तर पर पहुंच गई है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned