दुनिया भर में बिकवाली से मचा कोहराम, 1939 अंक फिसल गया सेंसेक्स

- निफ्टी भी पहुंचा 14500 के करीब: निवेशकों को हर मिनट 1,450 करोड़ रुपए का घाटा, अमरीका में बॉन्ड यील्ड बढऩे से हुआ असर।
- शुक्रवार को सेंसेक्स 3.80 फीसद नीचे 49,099.99 पर बंद ।

By: विकास गुप्ता

Published: 27 Feb 2021, 09:35 AM IST

मुम्बई। अमरीका में 10 साल की बॉन्ड यील्ड बढऩे से दुनियाभर के बाजारों में कोहराम मचा हुआ है। इसका साफ असर शुक्रवार को भारतीय बाजारों पर भी पड़ा। नतीजा भारतीय बाजारों में जोरदार गिरावट देखने को मिली। शुक्रवार को सेंसेक्स 1,939 अंक यानी 3.80 फीसद नीचे 49,099.99 पर बंद हुआ है। बाजार में वर्ष 2021 की यह सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले आखिरी बार एक दिन में इतनी बड़ी गिरावट 4 मई 2020 को देखने को मिली थी, जब इंडेक्स दो हजार अंकों से ज्यादा फिसल गया। भारी गिरावट के बीच सेंसेक्स ने 2148.83 अंक गिरकर दिन के सबसे निचले लेवल 48,890.48 को भी छुआ। 25 फरवरी को बीएसई सेंसेक्स 257 अंकों की बढ़त के साथ 51,039.31 पर बंद हुआ था।

निवेशकों के दो लाख करोड़ डूबे -
शुक्रवार को बाजार की इस भारी गिरावट में निवेशकों के छह लाख करोड़ रुपए डूब गए। सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण घटकर 2,00,64,472.99 करोड़ रुपए रह गया। निवेशकों को हर मिनट 1,450 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।

बॉन्ड यील्ड का बाजार कनेक्शन-
बॉन्ड यील्ड और इक्विटी रिटर्न प्रतिपानुपाती (इनवर्सिली प्रपोशनल) हैं। जब बॉन्ड यील्ड बढ़ता है तो इक्विटी मार्केट्स में गिरावट आती है। अमरीका में महंगाई को लेकर चिंता से बॉन्ड यील्ड में तेजी है। यह भारत के बाजारों के लिए अच्छी खबर नहीं है।

वैश्विक शेयर बाजारों में गिरावट -
नैस्डैक इंडेक्स गिरावट के साथ 13,119 और डाउ जोंस 559 अंक नीचे बंद हुआ था। जापान का निक्केई इंडेक्स 737 अंक नीचे रहा। हांगकांग का हेंगसेंग इंडेक्स 771 अंक नीचे रहा। शंघाई इंडेक्स, कोरिया का कोस्पी और ऑस्ट्रेलिया इंडेक्स नीचे है।

निफ्टी में भी दिखा गिरावट का असर-
निवेशकों ने सबसे ज्यादा बैंकिंग और ऑटो सेक्टर के शेयरों में बिकवाली की। इसीलिए निफ्टी बैंक इंडेक्स 4.78 प्रतिशत नीचे 34,803.60 पर और ऑटो इंडेक्स 3.12 फीसदी नीचे 10,169.90 पर बंद हुआ है। निफ्टी भी 568 अंक यानी 3.76 प्रतिशत नीचे 14,529.15 पर बंद हुआ। यह गुरुवार को 115 अंक ऊपर 15,097.35 पर बंद हुआ था।

दिग्गज शेयरों का हाल-
शीर्ष गिरावट वाले शेयरों में ओएनजीसी, एम एंड एम, पावर ग्रिड, जेएसडब्ल्यू स्टील और हीरो मोटोकॉर्प के शेयर शामिल हैं।

इन सेक्टरों पर असर-
फाइनेंस सर्विसेज, एफएमसीजी, आइटी, पीएसयू बैंक, बैंक, फार्मा, प्राइवेट बैंक, मेटल, ऑटो, मीडिया और रियल्टी सेक्टर पर असर पड़ा।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned