Terrorist Attack में घायल BJP नेता अब्दुल हमीद की अस्पताल में मौत, पांच दिन में तीसरा हमला

  • Jammu Kashmir में Terrorist के निशानें पर राजनीतिक दल के नेता
  • रविवार को जम्मू-कश्मीर के Budgam में हुए बीजेपी नेता पर हमले के बाद सोमवार को अस्पताल में उन्होंने तोड़ा दम
  • पांच दिन में तीसरी बार आतंकियों ने राजनीतिक दल के नेता पर किया जानलेवा हमला

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) में अब आतंकियों ( Terrorist ) के निशाने पर भारतीय जनता पार्टी ( BJP ) के नेता हैं। पिछले कुछ दिनों से लगातार बीजेपी नेताओं पर घाटी में जानलेवा हमले हो रहे हैं। रविवार को जम्मू-कश्मीर के बडगाम ( Budgam ) में आतंकियों ने बीजेपी नेता अब्दुल हमीद नाजर ( Abdul Hameed Nazar ) को अपना निशाना बनाया था। सोमवार को अस्पताल ( Hospital ) में इलाज के दौरान बीजेपी नेता अब्दुल ने दम तोड़ दिया।

सेना की ओर से घाटी में चलाए जा रहे ऑपरेशन ऑलआउट ( Operation All Out ) के चलते आतंकी पूरी तरह बौखला गए हैं। यही वजह है कि आतंकी बौखलाए हुए हैं और लगातार नेताओं और सरपंचों को निशाना बनाकर उनकी हत्या कर रहे हैं।

कृष्ण जन्माष्टमी पर भी कोरोना का साया, जानें सरकार ने क्या जारी की गाइडलाइन

पीएम मोदी ने कर दी इंटरनेट के नए युग की शुरुआत, जानें क्यों कही ब्लू इकोनॉमी की बात

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों ने राजनीतिक दल के नेता को निशाना बनाया। रविवार को भारतीय जनता पार्टी के अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) मोर्चा के जिलाध्यक्ष अब्दुल हमीद नाजर पर जानलेवा हमला कर दिया।

आतंकियों ने अब बडगाम जिले के ओमपोरा इलाके में को निशाना बनाया था। इस हमले में घायल अब्दुल को अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद सोमवार को अब्दुल की अस्पताल में ही इलाज के दौरान मौत हो गई।

आतंकियों ने हमीद को उस वक्त गोली मारी थी, जब वह सुबह की सैर के लिए निकले थे। वारदात के बाद आतंकी फरार हो गए। जबकि घायल भाजपा नेता को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

पांच दिनों में तीसरा हमला
आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पिछले पांच दिन में नेताओं पर ये तीसरा जानलेवा हमला है। इससे पहले दो बीजेपी नेताओं और सरपंचों को आतंकियों ने हमला कर हत्या की थी। आपको बता दें कि अभी तक किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।

बडगाम पुलिस के मुताबिक बीजेपी ओबीसी जिलाध्यक्ष अब्दुल हमीद एक सुरक्षित कैंपस में रहते थे। वह रविवार की सुबह सुरक्षा कर्मियों को बिना बताए सैर के लिए निकल गए उसी समय आतंकियों ने उन्हे बडगाम रेलवे स्टेशन के निकट गोली मार दी।

धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned