केंद्र का फैसला, देश में अब सभी निजी अस्पताल लगा सकेंगे कोरोना का टीका

Highlights.
- टीकाकरण अभियान का दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हो चुका है
- कोरोना टीकाकरण का पहला चरण गत 16 जनवरी से शुरू हुआ था
- दूसरे चरण में 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को टीका लगाया जाएगा

 

नई दिल्ली।
कोरोना के टीकाकरण अभियान का दूसरा चरण 1 मार्च से शुरू हो चुका है। पहला चरण गत 16 जनवरी से शुरू हुआ था। तब कोरोना से जंग में फ्रंट लाइन पर तैनात रहे कर्मवीरों और स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया था। वहीं, दूसरे चरण में 60 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गों को टीका लगाया जाएगा। इसके अलावा 45 साल से अधिक उम्र के वे लोग जो किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं, उन्हें भी टीका लगाया जाएगा। हालांकि, उन्हें अपने साथ बीमारी का प्रमाणपत्र लेकर जाना होगा। सरकार ने अभी 20 बीमारियों के लिए अनुमति दिया है।

सरकार ने अब ज्यादा से ज्यादा लोगों के टीकाकरण के लिए सरकारी के साथ-साथ सभी प्राइवेट अस्पतालों में टीकाकरण की अनुमति दे दी है। केंद्र ने राज्यों को निर्देश दिए कि सभी प्राइवेट अस्पतालों को टीके के लिए वैक्सिनेशन सेंटर घोषित किया जाए। ऐसे में केंद्र सरकार की ओर से पूर्व में अधिसूचित प्राइवेट अस्पतालों के साथ अन्य सभी प्राइवेट अस्पतालों में भी टीके लग सकेंगे। स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि देश में रिकवरी की दर 97 फीसद है।

दो और टीके मई तक आ सकते हैं
नेशनल कोविड टास्क फोर्स प्रमुख डॉ. एनके अरोड़ा ने बताया कि मई में देश में दो और वैक्सिनेशन उपलब्ध हो जाएंगी। इसमें स्पूतनिक और जायडस कैडिला का टीका शामिल है। फिलहाल देश में 30 वै सीन का ट्रायल चल रहा है।

निजी अस्पताल 250 रुपए में लगाएंगे
केंद्र सरकार राज्यों को सुपुर्द करेगी। 150 रुपए के अग्रिम भुगतान के साथ राज्य सरकार चिह्नित निजी अस्पतालों को सौंपेगी। निजी अस्पताल 250 रुपए में लगाएंगे। इसमें परिवहन, रख-रखाव, कोल्ड स्टोरेज, सिरिंज आदि का खर्च शामिल है।

पंजीकरण कहां और कैसे कराना होगा
सोमवार, 1 मार्च से शुरू हो रहे दूसरे चरण के टीकाकरण अभियान के लिए सरकार की ओर से गाइडलाइंस जारी कर दी गई है। इसमें संबंधित व्यक्ति कोविन-2 पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराकर सुविधा मुताबिक, वैक्सीन लगवा सकते हैं। ऑनलाइन पंजीकरण और बुकिंग के लिए कोविन-2 पोर्टल पर जाकर अपनी पसंद के कोविड टीकाकरण केंद्र से समय ले सकते हैं। पंजीकरण के लिए अपने मोबाइल नंबर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके बाद अप्रुवल के लिए आपकी ओर से दिए गए मोबाइल नंबर पर वन टाइम पासवर्ड यानी ओटीपी मिलेगा। सत्यापन के बाद, फोटो पहचान पत्र का उपयोग कर पंजीकरण करा सकते हैं।

टीका लगवाने जाएं तो साथ में क्या ले जाना जरूरी
इसमें सरकारी स्वास्थ्य सुविधाएं पूरी तरह मुफ्त हैं, मगर यह सुविधा आपको सिर्फ सरकारी कोविड टीकाकरण केंरदों पर ही मिलेगी। प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन लगवाने के लिए आपको भुगतान करना होगा। वहीं, जब भी आपका नंबर आए और आप टीका लगवाने के लिए जाएं, तो पंजीकरण के लिए उपयोग किए गए फोटो पहचान पत्र को भी जरूर साथ ले जाएं। इसके अलावा, 45 वर्ष से 59 वर्ष की आयु के लोग तभी इस चरण में टीका लगवा सकेंगे, जब वे किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित होंगे। टीकाकरण केंद्र पर उन्हें बीमारी का प्रमाण पत्र लेकर जाना जरूरी है।

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned