scriptCongress party announces new presidents in european union branches | देश की राजनीति में अपनी पकड़ बचाए रखने के लिए जूझ रही कांग्रेस ने यूरोपीय देशों में नियुक्त किए अध्यक्ष | Patrika News

देश की राजनीति में अपनी पकड़ बचाए रखने के लिए जूझ रही कांग्रेस ने यूरोपीय देशों में नियुक्त किए अध्यक्ष

locationनई दिल्लीPublished: Jul 11, 2021 02:23:38 pm

वर्तमान में कांग्रेस 23 यूरोपीय देशों में अपना संगठन चला रही है। कांग्रेस पार्टी द्वारा दी गई सूचना के अनुसार नए चुने गए अध्यक्षों में से अधिकतर लोग प्रोफेशनल्स या बुद्धिजीवी वर्ग से संबंध रखते हैं।

congress1.jpg
नई दिल्ली। देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी कांग्रेस भले ही घर में अध्यक्ष कौन बनेगा, यह तय नहीं कर पा रही है परन्तु विदेशों में पार्टी ने कई अध्यक्ष नियुक्त कर दिए हैं। बाकायदा इन नामों की घोषणा भी की गई है।
ओवरसीज कांग्रेस की कमान संभाल रहे सैम पित्रोदा ने नए अध्यक्षों की घोषणा की है। पार्टी द्वारा जारी सूचना के अनुसार नॉर्वे में 'इंडियन ओवरसीज कांग्रेस' (IOC) का अध्‍यक्ष गैरिसोबर सिंह गिल को बनाया गया है। वह एक बीयर ब्रांड के मालिक है। फिनलैंड में एक साइंटिस्ट कोमल कुमार को अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। इन नामों के अतिरिक्त इटली में दिलबाग चन्ना, स्वीडन में सोनिया हेल्डस्टड, स्विट्जरलैंड में जॉय कोचट्टू, ऑस्ट्रिया में सुनील कोरा, बेल्जियम में सुखीवन प्रीत सिंह, हालैंड में हरपिंदर सिंह घाग और पोलैंड में अमरजीत सिंह को अध्‍यक्ष घोषित किया गया है।
यह भी पढ़ें

ट्विटर ने भारत में नियुक्त किया शिकायत निवारण अधिकारी, विनय प्रकाश को दी जिम्मेदारी

वर्तमान में कांग्रेस 23 यूरोपीय देशों में अपना संगठन चला रही है। भारत के अतिरिक्त ब्रिटेन में भी कांग्रेस की अच्छी खासी मौजूदगी है। कांग्रेस द्वारा दी गई सूचना के अनुसार नए चुने गए अध्यक्षों में से अधिकतर लोग प्रोफेशनल्स या बुद्धिजीवी वर्ग से संबंध रखते हैं।
यह भी पढ़ें

डब्ल्यूएचओ की चीफ साइंटिस्ट का दावा, अभी धीमी नहीं हुई है कोरोना महामारी की रफ्तार

देश में चल रहा है पहचान बचाए रखने का संकट
वर्तमान में देश में कांग्रेस पार्टी अपने बुरे दौर से गुजर रही है। देश की स्वतंत्रता के समय से लेकर आज तक के समय में कांग्रेस की इतनी बुरी दशा कभी नहीं रहीं। फिलहाल संसद में कांग्रेस के पास जितनी सीटें हैं वो आज तक की न्यूनतम सीटें हैं। राहुल गांधी पार्टी का अध्यक्ष बनने से मना कर रहे हैं तथा सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष के रूप में पार्टी को चला रही हैं। पार्टी के अधिकतर नेता चाहते हैं कि गांधी परिवार के हाथों में ही नेतृत्व रहें जबकि गाहे-बगाहे कांग्रेस के अंदर ही विद्रोह के भी स्वर उठते रहे हैं जो पार्टी की कमान किसी सशक्त नेता के हाथ में दिए जाने की मांग कर रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो