कोरोना का सबसे ज्यादा प्रभाव दिल्ली में, वैक्सीन आने तक स्कूल बंद रहेंगे

Highlights.

- गुरुवार को कोरोना के 44,489 नए मामले रिपोर्ट किए गए। 524 संक्रमितों की मौत हुई है

- सबसे ज्यादा दिल्ली में वायरस का प्रभाव है। यहां संक्रमितों की संख्या 5 लाख 45 हजार 787 हो गई है

- महाराष्ट्र में 65, पश्चिम बंगाल में 51 हुई हैं। देश में एिटव केस 4,52,344 हैं

नई दिल्ली.

कोरोना वायरस की दूसरी लहर अमरीका समेत कई देशों में शुरू है। देश में भी दिवाली के बाद से कोरोना के नए मामलों में लगातार वृद्धि जारी है। गुरुवार को कोरोना के 44,489 नए मामले रिपोर्ट किए गए। 524 संक्रमितों की मौत हुई है। सबसे ज्यादा दिल्ली में वायरस का प्रभाव है। यहां संक्रमितों की संख्या 5 लाख 45 हजार 787 हो गई है। 24 घंटे में सबसे ज्यादा 99 मौतें दिल्ली में हुई हैं। इसके बाद महाराष्ट्र में 65, पश्चिम बंगाल में 51 हुई हैं। देश में एिटव केस 4,52,344 हैं, कुल संक्रमितों का 4.88 फीसदी है।

60.72 फीसदी नए केस छह राज्यों से

केरल में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा 6491 नए मामले आए हैं। महाराष्ट्र में 6159 व दिल्ली में 5246 मरीजों की पुष्टि हुई है। देश में 44,489 नए मामलों का 60.72 फीसदी सिर्फ 6 राज्यों से है।

वैक्सीन आने तक दिल्ली में स्कूल बंद

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि कोरोना वैसीन आने तक दिल्ली के सभी सरकारी स्कूल बंद रहेंगे। स्कूल उसी स्थिति में खोले जाएंगे जब स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में होगी। जैन ने कहा कि फिलहाल दिल्ली में सरकारी स्कूल खोले जाने की कोई स्थिति नहीं है। उन्होंने आशा जताई कि कोरोना की वैसीन जल्द आ सकती है।

Corona virus COVID-19
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned