देश में कोविड-19 के नए मामलों में कमी पर डरा रहे हैं यह आंकड़े, जानिए ये 10 फैक्ट

Coronavirus Update: पूरे देश में दर्ज हो रहे 80 फीसदी केस 15 राज्यों के 90 जिलों से सामने आ रहे हैं। इनमें सबसे अधिक महाराष्ट्र के जिले शामिल हैं। वहीं देश के 17 राज्यों के 66 जिलों में कोरोना पॉजिटिव दर 10 प्रतिशत से अधिक है।

नई दिल्ली। देश में कोरोना संमक्रमण के दूसरी लहर की रफ्तार अब करीब-करीब धीमी पडड चुकी है। देश में लगातार कोरोना संक्रमण के नए ममलों में कमी दर्ज की जा रही है। वहीं, दूसरी तरफ रिकवरी दर में भी बढ़ोतरी हो रही है। लेकिन इन सबके बीच स्वास्थ्य विशेषज्ञ और डॉक्टर्स लगातार चेतावनी जारी कर रहे हैं और एहतियात बरतने के लिए कह रहे हैं।

चूंकि देश के कई जिलों में अभी भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार काई तेज है। जहां एक ओर देश में नए मामलों में कमी दर्ज की जा रही है, वहीं दूसरी तरफ इन जिलों में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। ऐसे में इन जिलों से जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वह काफी डरावने वाले हैं। बीते दिनों स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुई है।

यह भी पढ़ें :- School Reopen: UP-बिहार-दिल्ली-तेलंगाना में खुल रहे हैं स्कूल, जानिए बाकी प्रदेशों का हाल

देश में रविवार को कोरोना से संक्रमित होने की दर 2.25 प्रतिशत दर्ज की गई, यानी इससे ये जाहिर है कि लगातार कोरोना की स्थिति में सुधार हो रहा है। लेकिन महाराष्ट्र, केरल और पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों में अब भी संक्रमण के नए मामलों में बढ़ोतरी हो रही है। जो कि काफी चिंता का विषय है।

जानिए कोरोना की वर्तमान स्थिति से जुड़े ये 10 फैक्ट

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से रविवार को कुछ आंकड़े जारी किए गए, जो कोरोना की वर्तमान स्थिति को दर्शाता है। इसमें कई ऐसे चौंकाने वाले आंकड़े है, जिससे चिंताएं अभी भी बरकरार है। हालांकि, पूरे देश में औसतन कोरोना के नए मामलों में कमी दर्ज की जा रही है। आइए जानते हैं कोरोना की स्थिति से जुड़े ये 10 तथ्य..

1- पूरे देश में दर्ज हो रहे 80 फीसदी केस 15 राज्यों के 90 जिलों से सामने आ रहे हैं। इनमें सबसे अधिक महाराष्ट्र के जिले शामिल हैं। महाराष्ट्र के 15 जिले, केरल के 14 जिले, तमिलनाडु के 12 जिले, ओडिशा के 10 जिले, आंध्र प्रदेश के 10, कर्नाटक के 10 जिले, असम के 6, पश्चिम बंगाल के 4 जिले, मेघालय के 2 जिले, मणिपुर के 2 जिले और त्रिपुरा, गोवा, मिजोरम, पुडुचेरी तथा अरुणाचल प्रदेश के एक-एक जिले शामिल हैं।

2- देश के दक्षिणी और पूर्वोत्तर राज्यों से अभी भी कोरोना के नए मामले अधिक सामने आ रहे हैं।

3- देश के 17 राज्यों के 66 जिलों में कोरोना पॉजिटिव दर 10 प्रतिशत से अधिक है। इसमें दक्षिण भारत, उत्तर-पूर्व और राजस्थान के 10 जिलों में लोगों के कोरोना पॉजिटिव होने की दर काफी अधिक है।

4- अरुणाचल प्रदेश के 10 जिलों, राजस्थान के 10 जिलों, मणिपुर के 9 जिलों, केरल के 8 जिलों, मेघालय के 6 जिलों, असम के 4 जिलों, सिक्किम के 4 जिलों, त्रिपुरा के तीन जिलों, ओडिशा के तीन जिलों, मिजोरम के दो जिलों, महाराष्ट्र के दो जिलों और छत्तीसगढ़, पुडुचेरी, नागालैंड, तेलंगाना, लक्षद्वीप तथा हिमाचल प्रदेश के एक-एक जिलों में कोविड पॉजिटिविटी दर 10 फीसदी से अधिक है।

5- देश के कुछ सीमित स्थानों पर कोरोना संक्रमण के नए मामले सबसे अधिक आ रहे हैं।

यह भी पढ़ें :- Covid-19: देश में दूसरी लहर अभी जारी, 66 जिलों में कोरोना पॉजिटिविटी रेट 10% से ज्यादा

6- महाराष्ट्र में दैनिक मामले गिरकर 6,000 तक पहुंच गए थे, लेकिन एक बार फिर से 2 जुलाई को यह बढ़कर 12,800 हो गया। वहीं केरल में दैनिक मामले गिरकर 8,000 तक पहुंच गया था, लेकिन अब बढ़कर फिर से 14,000 तक पहुंच गया है।

7- नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वी.के. पॉल ने कहा कि कोरोना मामलों में गिरावट की दर धीमी है। देस के कई जिलों में कोविड पॉजिटिव होने की दर 10 फीसदी से भी अधिक है। जो कि चिंता का विषय है।

8- हिमाचल प्रदेश समेत कई पहाड़ी राज्यों के हिल स्टेशनों में पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है, लेकिन पर्यटक कोरोना के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे में कोरोना की संभावित तीसरी लहर के बहुत जल्द आने की संभावना बढ़ती जा रही है।

9- वर्तमान में पूरे देश में प्रतिदिन 40 हजार से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। जो कि एक चिंता का विषय है। बीते दिनों करीब दो महीने बाद रिकवरी रेट संक्रमितों की संख्या से कम दर्ज की गई, जिससे की चिंताएं बढ़ गई हैं।

10- देश में दिसंबर तक सभी लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है, लेकिन वर्तमान में औसतन अभी हर दिन करीब 60 लाख डोज लगाए जा रहे हैं। ऐसे में इस लक्ष्य को तय समय में हासिल नहीं किया जा सकता है। दिसंबर तक देश के करीब 90 करोड़ लोगों को टीका लगाने के लिए जरूरी है कि औसतन हर दिन करीब एक करोड़ डोज लगाए जाएं। देश में अब तक 37 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है।

COVID-19 virus
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned