कोविड वैक्सीन 2020 में आ जाएगी, यह झूठा भरोसा है - फ्रैजियर

Highlights.

- वैक्सीन निर्माता कंपनियां इस साल के अंत तक कोविड का टीका देने का दावा कर रही हैं

- फाइजर वैक्सीन विकसित करने वाली मर्क एंड कंपनी के सीईओ केन फ्रैजियर ने कहा कि झूठा आश्वासन देना ठीक नहीं

- फ्रैजियर ने कहा कि वैक्सीन के विकसित होने व आने की घोषणा करने से राजनेताओं को बचना चाहिए

 

नई दिल्ली।

जब वैक्सीन निर्माता कंपनियां इस साल के अंत तक कोविड का टीका देने का दावा कर रही हैं, उस वक्त में फाइजर वैक्सीन विकसित करने वाली मर्क एंड कंपनी के सीईओ केन फ्रैजियर ने सनसनीखेज बयान दिया है। उनका कहना है कि वैक्सीन को लेकर जनता से कहा जा रहा है कि 2020 के अंत तक कोरोना की वैक्सीन आ जाएगी। मुझे लगता है कि यह झूठा आश्वासन देना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन के विकसित होने व आने की घोषणा करने से राजनेताओं को बचना चाहिए।

कोरोना पर 4 को सर्वदलीय बैठक
कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में चार दिसंबर को सुबह 10:30 बजे सर्वदलीय बैठक बुलाई है। बैठक के लिए लोकसभा, राज्यसभा के सभी सदस्यों को भी शामिल होने का न्योता भेजा गया है। यह बैठक ऑनलाइन होगी।

95 प्रतिशत डॉक्टर कोविड वैक्सीन की पहली डोज लेने के लिए तैयार

कोविड वैक्सीन को लेकर उठ रहे तरह-तरह के सवालों के बीच में डाॅक्टरों ने एक राय से पहली डोज लेने की बात कही है। पत्रिका ने देश के सात राज्यों के डॉक्टरों से सर्वे के तहत बात की और उनकी राय जानी तो 95 फीसदी डाॅक्टरों ने एक राय से कहा कि वह वैक्सीन की पहली डोज लेने के लिए तैयार हैं। वहीं, 5 फीसदी ने कहा कि वह एक बार वैक्सीन के रिजल्ट आने का इंतजार करेंगे, वॉलिंटियर में खुद डॉक्टर भी शामिल ए्स में शुरू हुए ह्यूमन ट्रायल में पहला टीका न्यूरोसाइंस विभाग के प्रमुख डॉ. एमवी पदम श्रीवास्तव ने लगवाया था। हरियाणा में खुद गृहमंत्री अनिल विज ने यह टीका लगवाया था।

COVID-19 Corona virus
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned