दिसंबर में पहली बार जीएसटी कलेक्शन रेकॉर्ड 1.15 लाख करोड़ के पार

  • तोड़ा अप्रैल 2019 का कीर्तिमान।
  • लगातार तीसरे महीने जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा।

 

नई दिल्ली। साल 2021 का पहला दिन आर्थिक मोर्चे पर खुशखबरी लेकर आया और साल 2020 जाते-जाते बहुत अच्छा आंकड़ा दे गया। दरअसल, दिसंबर में वस्तु एवं सेवा कर ( जीएसटी ) संग्रह अब तक के सर्वोच्च स्तर 1.15 लाख करोड़ रुपए तक पहुंच गया है। नए साल के पहले दिन सरकार ने देश को यह गुड न्यूज दी।

वित्त मंत्रालय के मुताबिक दिसंबर में जीएसटी कलेक्शन 1.15 लाख करोड़ रहा, जो अब तक सबसे अधिक है। जीएसटी व्यवस्था की शुरुआत जुलाई 2017 में हुई थी और यह पहला मौका है जब जीएसटी कलेक्शन 1.15 लाख करोड़ रुपए रहा। लगातार तीसरे महीने जीएसटी कलेक्शन एक लाख करोड़ रुपए से अधिक रहा है। अक्टूबर में जीएसटी कलेक्शन 1.05 लाख करोड़ और नवंबर में 1.04 लाख करोड़ रुपए रहा था।

पहली बार 1.15 लाख करोड़ पार

पहली बार जीएसटी का आंकड़ा 1.15 लाख करोड़ को पार किया है। पिछले साल दिसंबर महीने की तुलना में यह करीब 12 फीसदी ज्यादा है। इसके पहले सबसे ज्यादा जीएसटी कलेक्शन अप्रेल 2019 में 1,13,866 करोड़ रुपए का था।

- दिसंबर में सकल जीएसटी राजस्व 1,15,174 करोड़ रुपए

- दिसंबर में केंद्रीय जीएसटी संग्रह 21,365 करोड़

- राज्य जीएसटी संग्रह 27,804 करोड़

- एकीकृत जीएसटी 57,426 करोड़ (वस्तुओं के आयात पर एकत्र 27,050 करोड़ रुपए सहित)

- उपकर 8,579 करोड़ रुपए (आयात पर एकत्र 971 करोड़ रुपए सहित)।

यह बोला वित्त मंत्रालय

वित्त मंत्रालय ने शु्क्रवार को बताया कि दिसंबर में जीएसटी संग्रह ने 1.15 लाख करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर को छुआ, जो त्योहारी मांग और अर्थव्यवस्था में सुधार को दर्शाता है। बयान में कहा गया कि यह पिछले 21 महीनों में सबसे अधिक मासिक राजस्व वृद्धि है। यह महामारी के बाद तेज आर्थिक सुधार और जीएसटी चोरी और फर्जी बिल के खिलाफ चलाए गए देशव्यापी अभियान, और व्यवस्थागत बदलावों के चलते संभव हुआ है। नवंबर से 31 दिसंबर तक कुल 87 लाख जीएसटीआर-3बी रिटर्न दाखिल किए गए। समीक्षाधीन महीने में आयातित वस्तुओं से राजस्व 27 प्रतिशत बढ़ा और घरेलू लेनदेन (आयात सेवाओं सहित) से राजस्व इससे पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले आठ प्रतिशत अधिक रहा।

2020 में जीएसटी कलेक्शन

माह जीएसटी संग्रह

जनवरी 1,10,000

फरवरी 1,05,366

मार्च 97,597

अप्रैल 32,294

मई 62,009

जून 90,917

जुलाई 87,422

अगस्त 86,449

सितंबर 95,480

अक्टूबर 1,05,155

नवंबर 1,04,963

दिसंबर 1,15,174

तीन प्रमुख कारण : जिनसे बढ़ा जीएसटी कलेक्शन

- वित्त मंत्रालय के मुताबिक, दिसंबर 2020 में एक साल पहले की समान अवधि के मुकाबले 12 प्रतिशत ज्यादा रेवेन्यू मिला है।

- दिसंबर में 2020 आयात बढ़ गया है। एक साल पहले के मुकाबले इस साल आयात से 27 प्रतिशत ज्यादा रेवेन्यू मिला है।

- जीएसटी चोरी और फेक बिल के खिलाफ देशभर में चलाए गए अभियानों के कारण भी ज्यादा टैक्स मिला है।

GST
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned