IMA ने उत्तराखंड सरकार को पत्र लिख कांवड़ यात्रा पर रोक लगाने की अपील की

आईएमए ने कहा कि देश में कोरोना की पहली लहर के बाद हमने लापरवाही करना आरंभ कर दिया। लोगों ने केन्द्र सरकार द्वारा तय की गई गाइडलाइन को फॉलो करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से कोरोना की दूसरी लहर आई और तेजी से कोरोना केसेज में बढ़ोतरी देखी गई।

नई दिल्ली। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिखकर सावन माह में होने वाली कांवड़ यात्रा को मंजूरी नहीं दिए जाने की अपील की है। आईएमए की उत्तराखंड यूनिट ने पत्र में कहा कि कांवड यात्रा राज्य में कोरोना की तीसरी लहर आने का कारण बन सकती है।

यह भी पढ़ें : Coronavirus: 24 घंटे में 31 हजार 443 नए मरीज, 27 दिन बाद एक दिन में 2 हजार से ज्यादा मौतें

इंडियन मेडिकल एसोशिएशन की उत्तराखंड ब्रांच के सचिव अजय खन्ना द्वारा लिखे गए पत्र में कहा गया है कि हम आपसे अपील करते हैं कि कांवड़ यात्रा को मंजूरी न दें। देश के मेडिकल एक्सपर्ट्स कह चुके हैं कि जुलाई और अगस्त के दौरान कोरोना की तीसरी लहर का सामना करना पड़ सकता है।

आईएमए ने कहा कि देश में कोरोना की पहली लहर के बाद हमने लापरवाही करना आरंभ कर दिया। लोगों ने केन्द्र सरकार द्वारा तय की गई गाइडलाइन को फॉलो करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से कोरोना की दूसरी लहर आई और तेजी से कोरोना केसेज में बढ़ोतरी देखी गई। बहुत से लोगों की मौत भी हुई। यदि अब हमने कांवड़ यात्रा को नहीं रोका तो एक बार फिर से वैसा ही संकट आ सकता है।

यह भी पढ़ें : अब रोज 80 से 90 लाख लोगों को लगेगी कोरोना वैक्सीन, यह है सरकार का पूरा प्लान

कुंभ मेले के लिए भी दी गई थी चेतावनी
उल्लेखनीय है कि हाल ही में हुए कुंभ मेले के लिए भी उत्तराखंड सरकार को चेतावनी दी गई थी परन्तु सरकार ने गाइडलाइन फॉलो करते हुए इसे चालू रखने की बात कहीं थी। हालांकि विभिन्न अखाड़ों, मठों और साधु-संतों ने स्वेच्छा से ही कुंभ का समय पूर्व समापन करने का निर्णय किया था। इसके अलावा विभिन्न राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों को भी कोरोना की दूसरी लहर के आने का कारण माना गया था।

सुनील शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned