Jammu-Kashmir : केंद्र के नए नियमों के तहत घाटी के निवासी बने पंजाबी ज्वेलर सतपाल की हत्या

  • भूमि बदलाव कानून के बाद डोमिसाइल सर्टिफिकेट हासिल किया था।
  • डोमिसाइल सर्टिफिकेट हासिल करने वाले पहले व्यक्ति थे सतपाल निश्चल।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार द्वारा धारा 370 की समाप्ति और जम्मू-कश्मीर में भूमि कानून में आए बदलाव के बाद वहां के स्थायी निवासी बने पहले सतपाल निश्चल आतंकियों ने हत्या कर दी। इसे आतंकियों की ओर से उन लोगों में दहशत पैदा करने की कार्रवाई माना जा रहा है जो वहां का मूल निवासी होने का प्रमाण पत्र हासिल करना चाहते हैं। यही वजह है कि 65 वर्षीय पंजाबी ज्वेलर सतपाल निश्चल की हत्या से व्यापारी समुदाय सकते में है।

सेना की कामयाबी: सुरक्षा बलों ने नियंत्रण रेखा पर 4 दिनों में 13 आतंकियों को किया ढेर

जम्मू-कश्मीर भूमि बदलाव कानून लागू होने के बाद सतपाल निश्चल कश्मीर में निवास प्रमाण पत्र लेने वाले पहले व्यक्ति थे। पड़ोसियों ने बताया कि निश्चल सरायबाला में 17 साल तक बतौर किराएदार रहे। लेकिन निश्चल ने अपनी मेहनत के बल पर खूब तरक्की की और श्रीनगर के पॉश इलाके इंदिरानगर में अपना शानदार घर बनाया। वे यहां पिछले 25 सालों से रह रहे थे।

जानकारी के मुताबिक नया भूमि कानून बनने के बाद निश्चल और उनके परिवार को हाल ही में डोमिसाइल सर्टिफिकेट जारी हुआ था। निश्चल ने नया भूमि कानून बनने के बाद अपने लिए और अपने परिवार के लिए डोमिसाइल सर्टिफिकेट बनवाने का फैसला किया था। डोमिसाइल सर्टिफिकेट ही हत्या का कारण बना। आतंकियों ने इस हत्या के जरिए यह संकेत देने की कोशिश की है कि कश्मीर से बाहर के लोग अगर यहां निवास प्रमाण पत्र लेने की सोचेंगें तो उनका यही अंजाम होगा।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned