कोरोना के खिलाफ जंग में भारत ने बनाया बड़ा रिकॉर्ड

  • भारत ने कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के खिलाफ जंग में हासिल की बड़ी सफलता, रिकवरी रेट 91.15 फीसदी पहुंचा।
  • देश में कोरोना वायरस के कुल केस 80.89 लाख और 73.15 लाख मरीज अब तक हो चुके हैं ठीक।
  • एक्टिव केस लगातार हो रहे हैं कम और फिलहाल आंकड़ा 6 अगस्त से नीच 5.94 लाख पर पहुंचा।

नई दिल्ली। भारत ने कोरोना वायरस ( Coronavirus in india ) के खिलाफ अपनी लड़ाई में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। लगभग तीन महीने (85 दिन) में पहली बार देश में एक्टिव केस की संख्या 6 लाख से नीचे आई है। भारत में शुक्रवार को 5.94 लाख एक्टिव केस रिकॉर्ड किए गए हैं। जबकि तेजी से ठीक होते कोरोना वायरस मरीजों के चलते देश में रिकवरी रेट ऐतिहासिक रूप से बढ़कर 91.15 फीसदी पहुंच गया है।

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच सरकार ने लॉकडाउन को 30 नवंबर तक के लिए आगे बढ़ाया

देश में कोरोना वायरस के एक्टिव केस की संख्या बीते 6 अगस्त को 5.95 लाख थी और अब शुक्रवार को इससे कम हो गई है। वर्तमान में देश में अब तक आए कोरोना वायरस के कुल केस में एक्टिव केस का हिस्सा केवल 7.35 फीसदी है, जो फिलहाल 5,94,386 है। देश में लगातार एक्टिव केस में आ रही गिरावट अभी भी जारी है। देश में अब तक कुल केस 80,89,593 हो गए हैं।

इतना ही नहीं भारत में कोरोना वायरस के मरीजों के ठीक होने की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। देश में फिलहाल इस महामार से ठीक हो चुके मरीजों की संख्या बढ़कर 73 लाख 73 हजार 375 पहुंच गई है। इसके चलते भारत लगातार दुनिया में कोरोना प्रभावित देशों की उस सूची में सबसे ऊपर बना हुआ है, जहां मरीजों के ठीक होने की संख्या इतनी ज्यादा है। देश में एक्टिव केस और ठीक हो चुके मरीजों के बीच की संख्या में भी भारी अंतर आ चुका है और फिलहाल यह शुक्रवार को 67,78,989 पर पहुंच चुका है।

अभी खत्म नहीं हुआ कोरोना का खतरा, सर्दियों में भारत में ज्यादा खतरनाक हो जाएगा वायरस

देश में बीते 24 घंटों के भीतर इस महामारी से ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 57,386 रही, जबकि इसी दौरान 48,648 नए मामले सामने आए। अब देश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट बढ़कर 91.15 फीसदी पर पहुंच चुका है और लगातार बढ़ना जारी रखे है।

इसके साथ ही ठीक होने वाले कुल मरीजों में से 80 फीसदी की संख्या 10 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से है। केरल ने इस सूची में एक दिन में सर्वाधिक 8,000 मरीजों को ठीक होते देखा है, जबकि दूसरे और तीसरे पायदान पर महाराष्ट्र और कर्नाटक प्रत्येक में 7,000 मरीज ठीक हुए।

कोरोना के बाद अगली महामारी को लेकर बड़ी चेतावनी, अभी से जरूरी है तैयारी क्योंकि सामने आई जानकारी

वहीं, बीते 24 घंटों के दौरान देश में सामने आए 48,648 नए मामलों में से 78 फीसदी अभी भी 10 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों से हैं। केरल में अभी भी नए केस काफी ज्यादा आ रहे हैं और बीते 24 घंटों के दौरान यहां से 7,000 से ज्यादा केस देखने को मिले। जबकि इसके बाद महाराष्ट्र और दिल्ली प्रत्येक में 5,000 से ज्यादा नए मामले सामने आए।

कोरोना ने बीते 24 घंटों के दौरान देश में 563 लोगों की जान ले ली है और इनमें 81 फीसदी 10 राज्यों से हैं। महाराष्ट्र ने 156 मौतों के साथ इसमें सर्वाधिक हिस्सेदारी दिखाई, जबकि इसके बाद 61 मौत के साथ पश्चिम बंगाल का नंबर आता है।

कोरोना वायरस की दूसरी लहर करीब और एक महीने में बढ़ सकते हैं 26 लाख नए केसः केंद्रीय समिति की रिपोर्ट

कोरोना के खिलाफ जंग में भारत ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के रोजाना 10 लाख की आबादी पर 140 टेस्ट किए जाने की सलाह पर उल्लेखनीय प्रदर्शन किया है। जबकि अन्य उपलब्धि में 35 राज्य/केंद्र शासित प्रदेशों ने इन संख्या को भी पीछे छोड़ दिया है। भारत में रोजाना 10 लाख की आबादी पर टेस्ट का राष्ट्रीय औसत 844 है, जबकि दिल्ली और केरल में यह आंकड़ा 3,000 को पार कर गया है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned