Corona Vaccine: भारत में ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका वैक्सीन को मिल सकती है मंजूरी

Highlights

  • ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित वैक्सीन की मंजूरी पर चल रहा विचार।
  • भारत में ये वैक्सीन 'कोविशिल्ड' के नाम से होगी।

नई दिल्ली/लंदन। कोरोना वैक्सीन को लेकर भारत में बड़ी खबर सामने आ सकती है। ऑक्सफोर्ड/एस्ट्राजेनेका( Oxford-AstraZeneca Vaccine) की कोरोना वैक्सीन को ब्रिटिश नियामक ने बुधवार को मंजूरी दी है।

इसके बाद से ऐसा माना जा रहा है कि भारत में वैक्सीन को मंजूरी मिल सकती है। सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन के सूत्रों के अनुसार ब्रिटेन ने वैक्सीन को लेकर अपनी अनुमति देने के बाद बुधवार को ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित कोरोनो वायरस वैक्सीन को मंजूरी देने पर विचार कर सकता है। भारत में ये वैक्सीन 'कोविशिल्ड' के नाम से होगी।

ब्रिटेन ने घोषणा की कि उसने ऑक्सफोर्ड कोरोना वायरस वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। इससे जुड़ी एक विशेषज्ञ समिति (एसईसी) बुधवार को दोपहर दो बजे टीके के आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (ईयूए) पर बातचीत कर रही है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के आवेदन पर समिति द्वारा विचार किया जाएगा।

ब्रिटिश स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार सरकार ने आज ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी/एस्ट्राजेनेका की कोरोना वैक्सीन को अधिकृत करने के लिए मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी (MHRA) की सिफारिश को स्वीकार करा है।

MHRA द्वारा बीते सोमवार को सरकार द्वारा डेटा प्रस्तुत किए जाने के बाद टीके का मूल्यांकन किया जाना था। वैज्ञानिक सलाहकार समूह के सदस्य प्रोफेसर कालम सेम्पल के अनुसार टीका लेने वाले व्यक्ति कुछ हफ्तों में वायरस से सुरक्षित हो जााएंगे। ब्रिटेन ने टीके के करीब 10 करोड़ खुराक के ऑर्डर दिए हैं। इनमें से चार करोड़ खुराक मार्च के अंत तक मिलने की उम्मीद है।

COVID-19 virus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned