तमिलनाडु और पुद्दुचेरी पर मंडराया निवार चक्रवात का खतरा, अगामी 3 दिन अहम

  • कैबिनेट सचिव ने अधिकारियों को दिए तैयार रहने के निर्देश।
  • राजीव गौबा ने मुख्य सचिवों के साथ सुरक्षा तैयारियों को लेकर की चर्चा।

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव की वजह से तमिलनाडु, पुद्दुचेरी और आंध्र प्रदेश में निवार चक्रवात का खतरा पहले की तरह बरकरार है। चक्रवाती तूफान से संभावित नुकसान को देखते हुए कैबिनेट सचिव ने राजीव गौबा ने सभी संबंधित एजेंसियों को तैयार रहने के निर्देश दिए हैं। कैबिनेट सेक्रटरी अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे इसका ध्यान रखें कि तूफान से कोई भी जनहानि न हो और प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में सामान्य स्थिति जल्द बहाल हो। सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उन्होंने तैयारियों की समीक्षा की थी। समीक्षा बैठक में आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी के मुख्य सचिव शामिल थे।

24 से 26 नवंबर हमारे लिए अहम

तीनों राज्यों के मुख्य सचिवों ने अपनी तैयारियों से अवगत कराया और बताया कि अधिकारी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। भारत मौसम विज्ञान विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक आरके जेनामनी ने कहा है कि वर्तमान निवार चक्रवात चेन्नई से 50 किलोमीटर दक्षिण-पश्चिम में है। यह उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। बुधवार शाम तक यह तमिलनाडु तट की ओर बढ़ने और पुडुचेरी के करीब पहुंचने की संभावना है। आईएमडी के महानिदेशक बताया है कि चक्रवाती तूफान के लिहाज से 24 से 26 नवंबर हमारे लिए काफी अहम है।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned