इंडियन आर्मी ने बनाया नया मैसेजिंग एप SAI, जानिए इसके जबरदस्त सिक्योरिटी फीचर्स के बारे में

आर्मी का यह एप एप इंटरनेट के जरिए एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर एंड-टू-एंड सिक्योर वॉयस, टेक्स्ट और विडियो कॉलिंग सर्विस सपोर्ट करता है।

By: Mahendra Yadav

Published: 30 Oct 2020, 02:46 PM IST

आजकल कम्यूनिकेशन और चैटिंग के लिए ज्यादातर यूजर्स मैसेजिंग एप का इस्तेमाल करते हैं। व्हॉट्सएप सबसे पॉपुलर मैसेजिंग एप्स में से एक है। अब इंडियन आर्मी को भी व्हॉट्सएप जैसा मैसेजिंग एप मिल गया है। दरअसल,'आत्मनिर्भर भारत' अभियान के तहत भारतीय सेना ने एक नया मैसेजिंग एप डिवेलप किया है। इंडियन आर्मी के इस मैसेजिंग एप को 'Secure Application for the Internet (SAI)' नाम से लॉन्च किया गया है। कर्नल साई शंकर ने इस एप को बनाया है। आर्मी का यह एप एप इंटरनेट के जरिए एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म पर एंड-टू-एंड सिक्योर वॉयस, टेक्स्ट और विडियो कॉलिंग सर्विस सपोर्ट करता है।

बेहतर सिक्योरिटी फीचर्स
रक्षा मंत्रालय ने इस एप के बारे में जानकारी शेयर करते हुए बताया कि आर्मी द्वारा बनाया गया यह मैसेजिंग एप व्हाट्सएप, टेलिग्राम, SAMVAD और GIMS जैसा ही है। इंडियन आर्मी के इस एप में सिक्योरिटी फीचर्स का इस्तेमाल किया गया है। यह एप एंड-टू-एंड एनक्रिप्शन मैसेजिंग प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करता है। मतलब इसका डेटा कोई थर्ड पार्टी नहीं ले सकती है। जिसको मैसेज भेजा गया है और जिसने मैसेज भेजा है, सिर्फ वही इसे पढ़ पाएंगे। एप डेवलेपर्स भी उस मैसेज को नहीं पढ़ सकते। मंत्रालय का कहना है कि SAI लोकल इन-हाउस सर्वर और कोडिंग के साथ सिक्योरिटी फीचर्स के साथ अन्य एप्स से बेहतर है। साथ ही इन फीचर्स को जरूरत के मुताबिक बदला भी जा सकता है।

यह भी पढ़ें—Telegram पर इस टूल के जरिए बनाई जा रहीं लड़कियों की अश्लील तस्वीरें, लाखों फोटोज हुईं वायरल

army.png

iOS प्लेटफॉर्म के लिए प्रक्रिया चालू
मंत्रालय ने एक बयान जारी कहा है कि इस एप को CERT-in और आर्मी साइबर ग्रुप के पैनल ऑडिटर्स द्वारा परखा गया है। वहीं अभी NIC पर इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स (IPR) के लिए फाइलिंग पर काम जारी है। बता दें कि फिलहाल इसे एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म के लिए ही जारी किया गया है। iOS प्लेटफॉर्म के लिए इस एप पर काम चल रहा है। जल्द ही यह एप iOS प्लेटफॉर्म के लिए जारी कर दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें—डेटा चुराते हैं बच्चों के ये तीन एप्स, अगर आपके मोबाइल में हैं तो तुरंत करें डिलीट

रक्षा मंत्री ने दी बधाई
रक्षा मंत्रालय का कहना है कि नए एप SAI को पूरी आर्मी में इस्तेमाल किया जाएगा। इससे इस सर्विस के साथ सिक्योर मैसेजिंग की शुरुआत हो सके। वहीं रक्षा मंत्री ने इस एप का रिव्यू किया और कर्नल साई शंकर को एप बनाने के लिए बधाई दी।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned