Budget 2020 : रुपयों लिए बाजार में खड़ी हुई सरकार, LIC और IDBI Bank की बेचेगी हिस्सेदारी

  • सरकार एलआईसी को स्टॉक एक्सचेंज में करने जा रही है सूचीबद्ध
  • आईपीओ के जरिए एलआईसी की बड़ी हिस्सेदारी बेचने की घोषणा
  • आईडीबीआई बैंक को लेकर भी बड़ी घोषणा, अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचेगी

By: Saurabh Sharma

Updated: 01 Feb 2020, 06:53 PM IST

नई दिल्ली। बजट 2020 में सरकार ने एलआईसी और आईडीबीआई बैंक को लेकर बड़ी घोषणा की है। जहां एलआईसी के आईपीओ के जरिए सरकारी होल्डिंग्स बेचने का ऐलान किया है। वहीं दूसरी ओर आईडीबीआई बैंक की प्राइवेट सेक्टर को पूरी हिस्सेदारी बेचने की बात कही है। वास्तव में सरकार के खजाने को भरने के लिए ऐसा किया गया है। ताकि आने वाले वित्त वर्ष में राजकोषीय घाटे को भी कम किया जा सके। आइए आपको भी इन दोनों चीजों के विनिवेश के बारे में विस्तार से बताते हैं...

यह भी पढ़ेंः- Budget 2020 : इंटरनेशनल बुलियन एक्सचेंज खोलने की घोषणा से सोना रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा

एलआईसी की होल्डिंग्स को बेचेगी सरकार
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) में सरकार आईपीओ के जरिए अपनी हिस्सेदारी कम करेगी। वित्तमंत्री ने लोकसभा में आम बजट 2020-21 पेश करते हुए कहा, "सरकार एलआईसी को स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड करेगी।" हाल के दिनों में यह देश का सबसे बड़ा आईपीओ (इनिशियल पब्लिक ऑफर) हो सकता है। सरकार अगले वित्त वर्ष के आरंभ में अप्रैल में एलआईसी को सूचीबद्ध करेगी। एलआईसी को स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध करने का यह फैसला सरकार का राजस्व बढ़ाने की दिशा में एक बड़ा कदम होगा।

यह भी पढ़ेंः- बजट के बाद 3 महीने के निचले स्तर पर सेंसेक्स बंद, निफ्टी में 2018 के बाद सबसे बड़ी गिरावट

आसान नहीं होगा एलआईसी का विनिवेश
चालू वित्त वर्ष में विनिवेश से 18,000 करोड़ रुपये से ज्यादा रकम जुटाने की उम्मीद नहीं है। एक अधिकारी ने बताया कि कंपनी को सूचीबद्ध करना कठिन हो सकता है, क्योंकि इसका बड़ा निवेश रियल स्टेट, आर्ट व इक्विटी मार्केट में है, जिसके मूल्य निर्धारण में समय लग सकता है। देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी का सरप्लस 2018-19 में 9.9 फीसदी बढ़कर 532.14 अरब रुपये हो गया। यह पहला मौका था जब एलआईसी का सरप्लस 500 अरब रुपये के स्तर को पार कर गया।

यह भी पढ़ेंः- budget 2020 : Tax Payers को बड़ी राहत, Income Tax Slab में हुआ बड़ा बदलाव

सरकार आईडीबीआई बैंक में अपनी पूरी हिस्सेदारी बेचेगी
वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि सरकार आईडीबीआई बैंक में अपनी पूरी हिस्सेदारी निजी कारोबारियों को बेचेगी। इस घोषणा के बाद आईडीबीआई बैंक के शेयर 12 फीसदी से अधिक बढ़कर 38.25 रुपए पर पहुंच गए और प्रति शेयर 4.20 का लाभ हुआ। यह शनिवार को दोपहर 2.17 बजे यह 38.30 रुपए प्रति शेयर पर कारोबार कर रहा था। सरकार आईडीबीआई बैंक में लगभग 46.5 फीसदी हिस्सेदारी रखती है और एलआईसी द्वारा इसका अधिग्रहण किए जाने के बाद इसे निजी बैंक के रूप में वर्गीकृत किया गया है। सितंबर में भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) और सरकार ने बैंक में इक्विटी पूंजी के रूप में 9,300 करोड़ रुपए का निवेश किया।

budget 2020
Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned