सरकार की इस स्कीम में हर महीने मिलेंगे 10 हजार रुपए, बस करना होगा यह काम

  • रिटायरमेंट को सुरक्षित करने के लिए सरकार की वय वंदना योजना का ले सकते हैं लाभ
  • 31 मार्च 2020 तक है इस योजना से जुडऩे की आखिरी तारीख, 8.30 फीसदी तक का ब्याज

By: Saurabh Sharma

Updated: 22 Mar 2020, 02:51 PM IST

नई दिल्ली। आर्थिक रूप से किसी भी आदमी का सबसे मुश्किल दौर रिटायरमेंट के बाद का होता है। उस समय उसके पास आजिविका चलाने का कोई साधन ना हो तो वो दूसरों पर निर्भर हो जाता है। अगर आपने अभी तक अपने रिटायरमेंट के बाद के समय के बारे में नहीं सोचा है तो अभी से सोचना शुरू कर दीजिए। प्रधानमंत्री वय वंदना योजना ( Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana ) कारगर साबित हो सकती है, जो रिटायरमेंट के बाद भी किसी पर आश्रित नहीं करेगी। इस योजना के तहत आपको हर महीने तय पेंशन मिलती रहेगी। इस योजना में निवेश करने पर आपको 8 से 8.30 फीसदी की ब्याज भी मिलता है। ब्याज इस बात पर निर्भर करेगा कि आपने किस कैटेगिरी कर ऑप्शन चुना है। अगर आप इस योजना के बारे में विचार कर रहे हैं तो इसके काफी कम समय बचा है। 31 मार्च 2020 के बाद आपको इस योजना के लाभ नहीं मिलेगा।

यह भी पढ़ेंः- आरबीआई ने अगले तीन महीनों के लिए पीएमसी बैंक पर प्रतिबंध बढ़ाया

कैसे अपनाएं यह स्कीम
प्रधानमंत्री वय वंदना योजना का लाभ भारतीय जीवन बीमा निगम के माध्यम से लिया सकता है। जोकि ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों में उपलब्ध है। आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2018-19 के आम बजट में केंद्र सरकार ने सीनीयर सिटीजन के लिए इस योजना की लास्ट डेट को बढ़ाकर 31 मार्च 2020 कर दिया था। साथ ही अधिकतम सीमा को बढ़ाकर 15 लाख रुपए कर दी थी।

यह भी पढ़ेंः- कोरोना वायरस की वजह से बढ़ सकती है इन जरूरी कामों की लास्ट डेट

क्या है इस योजना के लाभ
- इस योजना की अवधि 10 साल रखी गई है।
- 10 साल पूरा होने के बाद भी इस स्कीम का लाभ चाहते हैं तो दोबारा इससे जुडऩा होगा।
- पेंशनधारी इस स्कीम के 10 साल तक जीवित है तो उसे आखिरी में एरियर भी दिया जाएगा।
- अगर किसी पेंशनधारी की मौत हो जाती है तो लाभार्थी को योजना की रकम वापस कर दी जाएगी।
- योजना का टेन्योर पूरा होने के बाद भी पेंशनधारी जीवित है तो उसे पॉलिसी की कुल रकम के साथ आखिरी पेंशन इंसटॉलमेंट तक की जाएगी।

यह भी पढ़ेंः- Janta Curfew के दिन भी आम लोगों को नहीं मिली पेट्रोल और डीजल की कीमत से राहत

60 साल की उम्र और 10 हजार की पेंशन
इस योजना के लिए पात्र व्यक्ति की उम्र 60 साल या उससे अधिक होनी चाहिए। इस योजा की अधिकतम आयु सीमा कोई नहीं है। वहीं इस योजना के प्रति माह पेंशन पाने वाले को कम से कम एक हजार रुपया मिलेगा। वहीं अधिकतम सीमा 10 हजार रुपए है। इस इस बात पर निर्भर करेगा कि आप कितनी अवधि के लिए पेंशन चाहते हैं। अगर आप न्यूनतम एक हजार रुपए मासिक पेंशन चाहते हैं तो आपको इस स्कीम के लिण्ए 1.50 लाख रुपए खर्च करने होंगे। वहीं आप 10 हजार रुपए मासिक पेंशन चाहते हैं तो 15 लाख रुपए खर्च करने होंगे।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned