Corona Treatment के बाद Claim और Settlement बीच खाली होती मरीज की जेब

  • Claim का Settlement करते वक्त सिर्फ आधा रुपया ही दे रही हैं Insurance companies
  • Claim और Settlement के बीच के Difference को अपनी जेब से भुगत रहा है मरीज

By: Saurabh Sharma

Updated: 18 Jun 2020, 07:16 PM IST

नई दिल्ली। अगर आपने कोरोना के दौर में मेडिकल इंश्योरेंस ( Medical Insurance ) से महरूम हैं और लेने के बारे में सोच रहे हैं और अगर है लेकिन इस्तेमाल नहीं किया है तो यह खबर दोनों कंडीशन में आपके लिए ही हैं। कोरोना का इलाज ( Coronavirus treatment ) कराने के बाद इंश्योर्ड मरीजों ( Insured Patient ) को भी अपनी जेब से भी भुगतान करना पड़ रहा है। इंश्योरेंस कंपनियां ( Insurance Companies ) क्लेम का सेटलमेंट के दौरान सिर्फ आधा ही भुगतान कर रही हैं। क्लेम और सेटलमेंट के बाद जितना भी बचा हुआ अमाउंट है उसे मरीजों को अपनी जेब से ही भुगतना पड़ रहा है।

हर महीने 42 रुपए की Premium भरने से Retirement के बाद Secure हो जाएगा बुढ़ापा

क्लेम की औसत राशि
- कोविड-19 के लिए बीमा कंपनियों की औसत सेटलमेंट राशि 90 हजार 118 रुपए है।
- औसतन क्लेम राशि की बात करें तो 1.56 लाख रुपए है।
- सेटलमेंट की रकम बीमा कंपनी को देनी होती है।
- क्लेम का औसत बिल अस्पताल से मिलता है।
- अब क्लेम और सेटलमेंट के बीच अंतर मरीजों को भुगतना पड़ रहा है।

मात्र एक रुपए में मिलता है महिलाओं का यह सामान, करोड़ों में होती है बिक्री

आंकड़ों में मामले, बिल और सेक्टलमेंट
- 9 जून तक कोविड के 11,405 मामलों में अस्पताल का करीबन 178 करोड़ रुपए का बिल बना।
- 58 करोड़ रुपए के 6,495 क्लेम का निपटारा हुआ।
- महाराष्ट्र में ही बीमा कंपनियों को 6,361 क्लेम मिला, 3,099 क्लेम का सेटलमेंट हुआ।
- 1,919 क्लेम के साथ दिल्ली दूसरे नंबर पर है, 1,407 क्लेम का सेटलमेंट हुआ।

French और British Whisky पीने वालों के लिए बुरी खबर, दुकानों पर नहीं मिलेंगे ये दो Brand

आसानी से पेमेंट नहीं कर रही हैं बीमा कंपनियां
कोरोना वायरस की वजह से बीमा कंपनियों को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ा रहा है। जिसकी वजह से बीमारी के खर्च के लिए कंपनियां आसानी से क्लेम का पेमेंट नहीं कर रही हैं। अगर कोई मरीज भोपाल के हॉस्पिटल में एडमिट है और उसका एवरेज क्लेम साइज 2.29 लाख रुपए का है। बीमा कंपनियां उसे सिर्फ 50 फीसदी ही पेमेंट कर रही हैं।

Indian Railway और Telecom Ministry करेगी Chinese Companies की विदाई, दोबारा जारी किए जाएंगे टेंडर

विदेश से आया इकलौता बिल
- इस दौरान विदेश से एक बिल आया है।
- यह क्लेम स्विटजरलैंड के एक अस्पताल से आया है।
- इस मरीज का बिल 11.85 लाख रुपए है।
- पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, तेलंगाना, उड़ीसा और झारखंड से मेडिकल क्लेम का ज्यादा बिल आ रहा है।

Coronavirus treatment
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned