script साल 2024 का माघ मेला आगामी महाकुंभ का पूर्वाभ्यास, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ड्रोन से की जाएगी निगरानी | CM Yogi Adityanath told see new experiments in Magh Mela for Mahakumbh | Patrika News

साल 2024 का माघ मेला आगामी महाकुंभ का पूर्वाभ्यास, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और ड्रोन से की जाएगी निगरानी

locationनई दिल्लीPublished: Dec 28, 2023 09:44:32 am

Submitted by:

anurag mishra

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को संगमनगरी का दौरे करके माघ मेला 2024 और महाकुम्भ 2025 की तैयारियों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि 2025 के महाकुंभ में पूरी दुनिया के सामने भारत के सांस्कृतिक वैभव का प्रदर्शन करने की तैयारी करें। महाकुंभ और माघ मेला में स्वच्छता का प्रतीक बने, इसके लिए प्रतिबंधित पॉलिथीन का प्रयोग पूर्णरूप से प्रतिबंधित करें।

 

CM Yogi Adityanath told see new experiments in Magh Mela for Mahakumbh
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को माघ मेला 2024 और महाकुम्भ 2025 की तैयारियों का निरीक्षण किया।
अनुराग मिश्रा। प्रयागराज: प्रयागराज के संगम तट पर महाकुंभ और माघ मेला की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की गई। गौरतलब है कि 2019 के दिव्य और भव्य कुंभ को यूनेस्को द्वारा मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर घोषित किया है। इसीलिए 2025 के महाकुंभ से दुनिया भर की अपेक्षाएं जुड़ी हुई हैं।
महाकुंभ के ज़रिए के समक्ष अपने को भारत के नए प्रतीक चिह्न के रूप में प्रस्तुत करने का यह एक स्वर्णिम अवसर है। आगामी कुंभ में दुनिया भारत का सांस्कृतिक वैभव देखगी। किला घाट, दशाश्वमेघ घाट के निर्माण कार्य एवं अक्षयवट, पातालपुरी व सरस्वती कूप कॉरिडोर के काम तेजी से चल रहे हैं।
प्रयागराज के अफसर माघमेला को महाकुंभ के पूर्वाभ्यास के तौर पर ले रहे हैं। सीएम योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की प्रशासनिक क्षमता, सांस्कृतिक समृद्धि एवं पर्यटन की सुविधाओं को प्रदर्शित करते हुए हम इस बार के महाकुंभ को और दिव्य बनाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आयोजन के दौरान स्वच्छता के मानक गढ़े और इस बात का ध्यान रखें की मेला में प्रतिबंधित पॉलिथीन का प्रयोग ना होने पाए। इसके लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग करते हुए श्रद्धालुओं को जागरुक करें।
ड्रोन से की जाएगी निगरानी
महाकुंभ और माघ मेला के दौरान आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एवं ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल करके भीड़ नियंत्रित कर सुरक्षा व्यवस्था को मजबूत की जा रही है। महाकुंभ और माघ मेला के दौरान स्थानीय कलाकारों के कला-शिल्प की बिक्री के लिए प्रदर्शनी लगाने की भी तैयारी है। इससे कलाकारों की आजीविका में मदद मिलेगी।

ट्रेंडिंग वीडियो