scriptSudarshan Setu: पीएम मोदी ने किया ‘सुदर्शन सेतु’ का लोकार्पण, अरब सागर पर बना देश का सबसे लंबा केबल पुल, जानिए इस सेतु की खासियत | Sudarshan Setu: PM Narendra Modi Inaugurate India's longest Cable Bridge Today Know Cost | Patrika News

Sudarshan Setu: पीएम मोदी ने किया ‘सुदर्शन सेतु’ का लोकार्पण, अरब सागर पर बना देश का सबसे लंबा केबल पुल, जानिए इस सेतु की खासियत

locationनई दिल्लीPublished: Feb 25, 2024 10:00:01 am

Submitted by:

Anand Mani Tripathi

Know India’s longest Cable Bridge: प्रधानमंत्री नरेंद्र (PM Modi) मोदी रविवार को देश के सबसे लंबे केबल पुल का लोकार्पण किया। इसे अरब सागर पर तैयार किया गया है।

pm_narendra_modi_inaugurate_india_longest_cable_bridge_.png

PM Narendra Modi Inaugurate Sudarshan Setu : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को अरब सागर पर बना सबसे लंबे केबल पुल का लोकार्पण किया। इस पुल को सुदर्शन सेतु नाम दिया गया है। यह केबल पुल बेत द्वारका और ओखा को आपस में जोड़ देगा। पीएम मोदी ने जामनगर पहुंचने से पहले अपने एक्स अकाउंट पर सुदर्शन सेतु का चित्र शेयर किया। इसकी पुल को तैयार करने में 978 करोड़ रुपए की लागत आई है। यह कच्छ की खाड़ी और ओखा में बेट द्वारका द्वीप को जोड़ने वाला सबसे लंबा पुल है। इस पुल की कुल लंबाई 2,320 मीटर है।

द्वारकाधीश मंदिर के दर्शन के लिए जल परिवहन पर तीर्थयात्रियों की लंबे समय से चली आ रही थी। इसके बाद मोदी सरकार ने 2017 में पुल बनाने की पहल की। अब यह पुल तैयार हो गया है। इससे यात्रा का समय कम होगा। तीर्थयात्रियों की सुरक्षा और आराम भी बढ़ जाएगा।


यह देश का सबसे लंबा केबल सेतु है। इसकी खासियत यह भी है कि इसके फुटपाथ पर सौर पैनल लगाए गए हैं। यक एक मेगावॉट बिजली पैदा करेंगे। इस पुल की किनारे किनारे भगवद गीता के श्लोक और भगवान कृष्ण की छवियां शामिल हैंं।

 

pm_narendra_modi_inaugurate_indias_longest_cable_bridge_today_.png

 


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को गुजरात में 52,250 करोड़ रुपये से अधिक राशि की विभिन्न विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे अथवा उद्घाटन करेंगे। शिलान्यास या उद्घाटन होना है वह स्वास्थ्य, सड़क, रेल, ऊर्जा, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, पर्यटन जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों से संबंधित हैं। स्वास्थ्य क्षेत्र में, राजकोट (गुजरात), बठिंडा (पंजाब), रायबरेली (उत्तर प्रदेश), कल्याणी (पश्चिम बंगाल) और मंगलागिरि (आंध्र प्रदेश) में पांच अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) राष्ट्र को समर्पित करेंगे।

https://twitter.com/narendramodi/status/1761390501167583472?ref_src=twsrc%5Etfw

ट्रेंडिंग वीडियो