scriptलॉकडाउन में फ्लाइट कैंसिल होने पर भी यात्रियों का पैसा दबाकर बैठी थी ट्रैवल कंपनियां | Patrika News
नई दिल्ली

लॉकडाउन में फ्लाइट कैंसिल होने पर भी यात्रियों का पैसा दबाकर बैठी थी ट्रैवल कंपनियां

उपभोक्ता संरक्षण मंत्रालय के एक्शन पर ‘यात्रा’ ने वापस हुए 32 हजार से अधिक यात्रियों के 23 करोड़ रुपये
5 कंपनियों ने पूरा पैसा वापस किया, यात्रा प्लेटफॉर्म को शेष ढाई करोड़ जल्द लौटाने का निर्देश

नई दिल्लीJul 11, 2024 / 03:47 pm

Navneet Mishra

नवनीत मिश्र

नई दिल्ली। कोविड के दौरान हवाई यात्रा का टिकट बुक कराने वाले हजारों यात्रियों का पैसा फ्लाइट कैंसिल होने के बावजूद ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियां दबाकर बैठ गईं थीं। केंद्र सरकार तक पहुंची तमाम शिकायतों पर एक्शन शुरू हुआ तो पांच कंपनियों ने जहां पूरा पैसा वापस कर दिया, वहीं ‘यात्रा’ ने अब तक 23 करोड़ रुपये वापस किए हैं। यात्रा प्लेटफॉर्म को शेष ढाई करोड़ रुपये भी लौटाने के लिए निर्देश जारी हुआ है। यह कार्रवाई उपभोक्ता संरक्षण मंत्रालय के अधीन आने वाले केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए) ने किया है।
दरअसल, केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए) को शिकायत मिल रही थी कि कोविड लॉकडाउन के कारण रद्द किए गए हवाई टिकटों का ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियां रिफंड नहीं कर रहीं हैं। ट्रैवल एजेंसियों का कहना था कि उन्हें एयरलाइंस से रिफंड नहीं मिला है, इसलिए वो पैसा लौटाने में असमर्थ हैं। यह मामला 2020 में सुप्रीम कोर्ट भी पहुंचा था, तब कोर्ट ने एक अक्टूबर 2020 को जारी आदेश में कहा था कि लॉकडाउन अवधि के दौरान यात्रा के लिए किसी ट्रैवल एजेंट के माध्यम से टिकट बुक किए गए हैं, तो ऐसे सभी मामलों में एयरलाइनों द्वारा तुरंत पूरी धनवापसी की जाएगी। इस तरह के रिफंड पर, एजेंट, यात्रियों को तुरंत राशि वापस करेंगे।

सीसीपीए ने की सुनवाई तो वापस हुआ पैसा

सीसीपीए ने सभी उपभोक्ताओं की शिकायतों का स्वतः संज्ञान लेते हुए सुनवाई शुरू कर दी और ट्रैवल एजेंसियों को नोटिस जारी किया। 8 जुलाई, 2021 से 25 जून, 2024 तक सीसीपीए ने कई बार सुनवाई की। जिसका परिणाम भी दिखा। ‘यात्रा’ के पास वर्ष 2021 में, 36,276 बुकिंग की कुल धनराशि 26,25,82,484 रूपये लंबित थी। सीसीपीए की सुनवाई के बाद 21 जून, 2024 तक, सिर्फ 4,837 बुकिंग की 2,52,87,098 रुपये ही शेष बची है। इस प्रकार यात्रा प्लेटफॉर्म ने उपभोक्ताओं को लगभग 87 प्रतिशत राशि वापस कर दी है। मंत्रालय ने एयरलाइंस को भी नोटिस जारी कर यात्रा प्लेटफॉर्म को पैसा दिलाया।

इन कंपनियों ने पूरा पैसा वापस किया

मेक माई ट्रिप

ईज़ माई ट्रिप

क्लियर ट्रिप

इक्सिगो

थॉमस कुक

हेल्पलाइन पर करें शिकायत, होगा रिफंड

अगर आपका भी पैसा फंसा है तो राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन (1915-टोल फ्री नंबर) पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। ऐसी शिकायतों के लिए पांच खास प्रोफेशनल्स की भी नियुक्ति हुई है।

Hindi News/ New Delhi / लॉकडाउन में फ्लाइट कैंसिल होने पर भी यात्रियों का पैसा दबाकर बैठी थी ट्रैवल कंपनियां

ट्रेंडिंग वीडियो