scriptPravah : Not only Jaipur entire Rajasthan failed in cleanline | प्रवाह : कचरा निगम | Patrika News

प्रवाह : कचरा निगम

आज राजधानी के हर गली-मोहल्ले में लगे कचरे के ढेर शहर का 'गौरव' बढ़ा रहे हैं। आम लोगों का सड़कों से गुजरना तक मुहाल हो गया है, पर जिम्मेदारों ने आंख-नाक-कान सब बंद कर रखे हैं। जब राजधानी के ये हाल हैं तो प्रदेश के अन्य शहरों की क्या दशा होगी, कल्पना की जा सकती है।

नई दिल्ली

Published: November 29, 2021 12:29:58 pm

जयपुर सड़ रहा है। पर, न नगर निगम में किसी को शर्म आती है और न सरकार में। जैसे सबको कचरे और बदबू के बीच रहने की आदत पड़ गई हो। शहर के चार मंत्री हैं। सब मंत्रीपद और मलाईदार विभाग मिलने के जश्न में डूबे हुए हैं। शहरवासियों पर क्या गुजर रही है किसी को चिंता नहीं है।

cleanline
cleanline

हमारे मंत्रियों और अफसरों को तब भी शर्म नहीं आई जब स्वच्छता रैंकिंग में जयपुर ही नहीं, पूरा राजस्थान फेल हो गया। लगातार ऐसा हो रहा है पर सब चिकने घड़े हो रहे हैं। शहरवासी जब इंदौर और भोपाल के अच्छी रैंकिंग पर आने की बात सुनते हैं तो शर्म से पानी-पानी हो जाते हैं। पर मंत्री और अफसर कलंक के टीके को ही विजय का तिलक मानकर इतरा रहे हैं।

जयपुर में सफाई का ठेका उठाने वाली कंपनी या उसके कर्मचारियों की हड़ताल आए दिन का तमाशा बन चुकी है। जनता से पैसे वसूलने में कोई कसर नहीं है, फिर वेतन या कंपनी को भुगतान की समस्या क्यों होती है? कहने को दो नगर निगम बना दिए गए हैं पर इससे शहर का भला होने के बजाए मुख्य समस्याएं दोगुनी हो गईं। रीढ़-विहीन अफसर साहसिक निर्णय नहीं ले पाते। मंत्रियों और विधायकों के इशारे पर काम करने वाले कठपुतले बनकर रह गए हैं।

कमीशनखोरी और पैसे खाकर अतिक्रमण करवाने के मामले ऐतिहासिक ऊंचाइयों को छू रहे हैं।
शहर के पार्षद तो जैसे कमेटियों के पद पाकर ही प्रसन्न हो गए हैं। वार्ड में एकाध सड़कें बनवा दीं तो जैसे गढ़ जीत लिया। रोजमर्रा की समस्याओं से उनका कोई लेना-देना नहीं रहा।

आज राजधानी के हर गली-मोहल्ले में लगे कचरे के ढेर शहर का 'गौरव' बढ़ा रहे हैं। आम लोगों का सड़कों से गुजरना तक मुहाल हो गया है, पर जिम्मेदारों ने आंख-नाक-कान सब बंद कर रखे हैं। जब राजधानी के ये हाल हैं तो प्रदेश के अन्य शहरों की क्या दशा होगी, कल्पना की जा सकती है। एक ही उपाय रह गया है नागरिक स्वयं झाड़ू-तगारी लेकर सड़कों पर निकल जाएं। शायद किसी का जमीर जाग जाए।
[email protected]

newsletter

भुवनेश जैन

पिछले 41 वर्षों से सक्रिय पत्रकारिता में। राजनीतिक, सामाजिक विषयों, नगरीय विकास, अपराध, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि विषयों में रूचि। 'राजस्थान पत्रिका' में पिछले दो दशकों से लगातार प्रकाशित हो रहे है कॉलम 'प्रवाह' के लेखक। वर्तमान में पत्रिका समूह के डिप्टी एडिटर जयपुर में पदस्थापित।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.