'ऊँ' के आकार का है महालक्ष्मी का ये दरबार, दर्शन मात्र से ही दूर होते हैं सभी कष्ट

अष्टलक्ष्मी के दर्शन से धन, विद्या, वैभव, शक्ति व सुख की प्राप्ति होती है।

भारत में देवी लक्ष्मी के कई मंदिरें हैं, उनमें से चेन्नई के अडयार में स्थित महालक्ष्मी का मंदिर सबसे खास है। इस मंदिर में देवी लक्ष्मी के 8 स्वरूपों की प्रतीमा स्थापित है। इस मंदिर को 'माता अष्टलक्ष्मी मंदिर' के नाम से जाना जाता है।


इस मंदिर की विशेषता यहां पर विराजमान माता लक्ष्मी के 8 स्वरूप है। यह मंदिर अष्टलक्ष्मी के नाम से विख्यात है। मान्यता है कि यहां अष्टलक्ष्मी के दर्शन से धन, विद्या, वैभव, शक्ति व सुख की प्राप्ति होती है। यह मंदिर विशाल गुंबद वाला है। मंदिर में देवी लक्ष्मी की 8 प्रतिमाएं भिन्न-भिन्न तल पर स्थापित हैं।


यहां आनेवाले भक्तों को आदि लक्ष्मी, धान्य लक्ष्मी, धैर्य लक्ष्मी, गज लक्ष्मी, विद्या लक्ष्मी, विजया लक्ष्मी, संतना लक्ष्मी व धन लक्ष्मी के दर्शन होते हैं। इस मंदिर के अंत में भगवान विष्णु और देवी लक्ष्मी का प्रतिमा है। यहां आनेवाले श्रद्धालु इस मंदिर के दर्शन किए बिना नहीं वापस नहीं जाते हैं।


कब बना था मंदिर?

जानकार बताते हैं कि इस मंदिर का निर्माण 1974 में आरंभ किया गया था। इस मंदिर का निर्माण निवास वरदचेरियार की नेतृत्व में करवाया गया था। 5 अप्रैल 1976 में इस मंदिर में विधिवत पूजा-अर्चना शुरू हुई थी। मंदिर का निर्माण ऊँ के आकार का किया गया है। यह मंदिर तीन मंजिला है और 65 फीट लंबा व 45 फीट चौड़ा है।


8 कमल पुष्प अर्पित करने की है प्रथा

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि देवी लक्ष्मी को कमल का पुष्प अति प्रिय है। यही कारण है कि यहां आने वाले श्रद्धालु माता को कमल का पुष्प जरूर अर्पित करते हैं। इस मंदिर में 8 कमल पुष्प अर्पित करते हैं क्योंकि इस मंदिर में माता लक्ष्मी 8 स्वरूपों में विराजमान है। यही कारण है कि यहां आने वाले श्रद्धालु भिन्न-भिन्न कमल के पुष्प लेकर आते हैं।


कब खुलते हैं देवी लक्ष्मी के कपाट?

माता अष्टलक्ष्मी मंदिर के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए सुबह 6.30 बजे खुल जाते हैं। इसके बाद दोपहर 12 बजे से लेकर 4 बजे तक बंद रहते हैं। फिर 4 बते पुन: कपाट भक्तों के दर्शन के लिए खुलते हैं और रात्रि के 9 बजे बंद हो जाते हैं।

Show More
Devendra Kashyap
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned