बचपन का प्यार भूल नहीं जाना रे...गाने वाले सहदेव अब क्रिकेट में आजमा रहे हाथ

- हाल ही में बिलासपुर में आयोजित राज्य स्तरीय स्कूल क्रिकेट प्रतियोगिता चटकाए तीन विकेट
- सहदेव का हुनर देख टर्मिनेटर क्रिकेट अकादमी ने आजीवन नि:शुल्क ट्रेनिंग देने का दिया प्रस्ताव.

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 08 Oct 2021, 04:33 PM IST

पत्रिका एक्सक्लूसिव
रायपुर. प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती। जहां से रास्ता मिलता हैं, वहीं से निखरना शुरू होती है। ऐसा ही कुछ बचपन का प्यार भूल नहीं जाना रे... गाना गाकर रातों रात स्टार बने सुकुमा निवासी सहदेव दिरदों साथ भी हो रहा है। पहले अपनी गायकी के जरिए देश-प्रदेश के लोगों को दिल जीता। अब वह क्रिकेट में भी हुनर दिखाने लगा है। पिछले दिनों बिलासपुर में आयोजित राज्यस्तरीय स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट में अपने जौहर दिखाया। वो मीडियम पेस बॉलर है। इस टूर्नामेंट के मैच में उसने तीन विकेट भी चटकाए। उनके क्रिकेट के टूर्नामेंट को देख राजधानी रायपुर में टर्मिनेटर क्रिकेट अकादमी के डायरेक्टर शबाब कुरैशी ने उन्हें आजीवन नि:शुल्क क्रिकेट टे्रनिंग का प्रस्ताव दिया है।

एक बार जब रिपोर्टर वायरल ब्वॉय सहदेव से पूछता है कि, आप आगे चलकर क्या बनना चाहते हो तो वे कहते हैं कि गायक और खिलाड़ी। फिर जब पूछा जाता है कौन से खेल में जाएंगे, तो सहदेव कहते हैं कि उन्हें क्रिकेट में जाना है और विराट कोहली जैसा बनना है। इस वीडियो को विराट कोहली फैन आर्मी के पेज ने अपने इंस्टाग्राम पर शेयर किया है और कैप्शन दिया है, बचपन का प्यार विराट कोहली।

देश के लिए खेलना चाहता है सहदेव
सहदेव ने टर्मिनेटर अकादमी के डायरेक्टर को बातचीत में बताया कि वे पिछले कुछ समय से सुकमा में ही अपने स्कूली साथियों के साथ क्रिकेट खेल रहे हैं। वहां किसी प्रकार का कोई प्रशिक्षण नहीं मिलता है। फिर भी साथियों को देखकर वे मीडियम पेस बॉलिंग करते हैं। उनका कहना है कि वे क्रिकेट में ही आगे बढऩा चाहता है। उनका सपना है कि वे एक दिन देश के लिए क्रिकेट खेले। उन्हें क्रिकेट खेलना बहुत अच्छा लगता है।

लगन और जुनून को देख दिया प्रस्ताव
टर्मिनेटर क्रिकेट अकादमी के डायरेक्टर शबाब कुरैशी ने बताया कि सहदेव क्रिकेट के भी अच्छे खिलाडी है। वे मीडियम पेस बॉलिंग करते हैं। सहदेव 21वीं राज्य स्तरीय स्कूल क्रिकेट प्रतियोगिता बिलासपुर में बस्तर संभाग की तरफ से खेलने आए थे। तभी वहां उनसे मुलाकात हुई थी। उन्होंने बताया कि सहदेव को सरगुजा के खिलाफ 1 मैच में खेलता देखा। जिसमें सहदेव ने 3 विकेट प्राप्त किए थे। सहदेव की इस काबिलियत को देखते हुए उनसे क्रिकेट पर बात हुई।

सहदेव ने बताया कि उसे क्रिकेट खेलना बहुत अच्छा लगता है और वो इंडिया के लिए क्रिकेट खेलने का सपना देखता है। क्रिकेट के प्रति सहदेव की लगन और जुनून को देखते हुए उन्हें आजीवन नि:शुल्क क्रिकेट प्रशिक्षण प्रदान करने का प्रस्ताव सहदेव को दिया। इस प्रस्ताव को पाकर सहदेव बहुत खुश हैं।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned