खाद्य मंत्री मोहले ने पीडीएस पर थपथपाई पीठ कांग्रेस ने पूछा- घोटालों में कार्रवाई का क्या हुआ

Ashish Gupta

Publish: Dec, 07 2017 02:38:00 (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
खाद्य मंत्री मोहले ने पीडीएस पर थपथपाई पीठ कांग्रेस ने पूछा- घोटालों में कार्रवाई का क्या हुआ

सरकार में भाजपा के 14 वर्ष पूरा होने पर खाद्य मंत्री पुन्नूलाल मोहले ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली पर अपनी पीठ थपथपाई है।

रायपुर . सरकार में भाजपा के 14 वर्ष पूरा होने पर खाद्य, नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण और ग्रामोद्योग मंत्री पुन्नूलाल मोहले ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली पर अपनी पीठ थपथपाई है।

Read More : मुख्यमंत्री ने कहा- बधाई के पात्र हैं शिक्षाकर्मी, स्कूलों में लौट आई है रौनक

राजधानी में उन्होंने कहा, राज्य सरकार ने पीडीएस में निरंतर सुधार करते हुए गरीबों को भोजन की चिंता से मुक्त कर दिया है। इसके तहत प्रदेश के लगभग 57 लाख 72 हजार परिवारों को हर महीने सिर्फ एक रुपए किलो में चावल दिया जा रहा है। इन परिवारों के 2 करोड़ 10 लाख सदस्यों को इस योजना का लाभ मिल रहा है।

Read More : 2017 को अलविदा कहने से पहले लंबित प्रकरणों के निराकरण में पुलिस बहा रही जमकर पसीना

जवाब में कांग्रेस ने पीडीएस में हुए घोटालों की याद दिलाई है। कांग्रेस भवन में पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व मंत्री मोहम्मद अकबर ने आरोप लगाया कि दिसम्बर 2007 में भाजपा के तत्कालीन प्रदेश प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान ने कार्यकर्ताओं को चावल की दलाली न खाने की नसीहत दी थी। उसके बावजूद 36 हजार करोड़ का नान घोटाला हुआ।

Read More : ...तो इस वजह से शिक्षाकर्मियों ने खत्म की हड़ताल, जानिए अंदर की पूरी बात

अकबर ने सवाल किया, इस मामले में मंत्री सहित बड़े लोगों पर आरोप है, उसमें अब तक कार्रवाई क्यों नहीं हो पाई। पूर्व मंत्री ने बलौदा बाजार, कुनकुरी के चावल घोटाले में कार्रवाई नहीं होने पर भी सवाल खड़े किए।

Read More : भड़के मंत्री ने कहा - फंड, स्टाफ सब दिया, बहाने नहीं अब काम चाहिए

वादाखिलाफी पर भी घेरा
मोहम्मद अकबर ने धान किसानों को 2100 रुपए प्रति क्विंटल का समर्थन मूल्य और सभी वर्षों का 300 रुपये की दर से बोनस नहीं देने को वादाखिलाफी बताया। उनका कहना था, इस दर से किसानों को 5 हजार 760 करोड़ रुपये देना बाकी है। उसके बारे में मंत्री ने कुछ क्यों नहीं कहा।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned