छत्तीसगढ़ में ऑनलाइन शराब : तीन घंटों में 10000 से ज्यादा आर्डर, सर्वर फेल, नहीं हुई डिलीवरी

छत्तीसगढ़ में शराब की होम डिलीवरी के लिए बनाए गए विभागीय पोर्टल का सर्वर डाउन और वेबसाइट क्रैश होने के बावजूद 3 लाख लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया। इसमें 29 हजार से ज्यादा लोगों ने 4 करोड़ 32 लाख रुपए की शराब का ऑर्डर लिए गए हैं।

 

By: Bhupesh Tripathi

Published: 11 May 2021, 01:12 AM IST

रायपुर . छत्तीसगढ़ में लॉकडाउन के चलते बीते 9 अप्रैल से शराब दुकानें बंद है। सरकार ने सोमवार से होम डिलीवरी की सुविधा शुरू की। सुबह 9 बजे से बेतहाशा बुकिंग होने के कारण तीन घंटे में सर्वर ठप हो गया। सर्वर खराब होने के कारण जिन लोगों ने आर्डर किया था उनको डिलीवरी भी देर रात तक नहीं हो पाई।

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि प्रदेश में तकरीबन 10 हजार आर्डर ऑनलाइन रजिस्टर्ड हुए हैं, जिसमें से दो हजार से ज्यादा रायपुर के हैं। रायपुर में कुल 22 दुकानों से डिलीवरी का काम शुरू किया गया है, जिनमें से कुल 22 दुकानों जिनमें से 6 देशी, 6 प्रीमियम, 8 अंग्रेजी, 6 कंपोजिट दुकानें शामिल हैं। बता दें कि सीएमसीएल डॉट इन वेबसाइट एनआईसी के माध्यम से संचालित की जा रही है। एक साथ आर्डर मिलने के कारण वेबसाइट पर लोड अधिक हो गया।

Read More : लॉकडाउन में शराब की होम डिलीवरी पर बीजेपी का तंज - सीएम भूपेश ने आपदा को अवसर में बदला

3 लाख लोगों ने डाउनलोड किया एप
सीएसएमसीएल की वेबसाइट के अलावा ऐप भी प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। विभाग के मुताबिक पहले दिन ही कुछ ही घंटो में 3 लाख से ज्यादा लोगों ने एप डाउनलोड किया है।

नहीं लगा हेल्पलाइन नंबर
रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग में शराब की सबसे अधिक डिमांड रही। क्षमता से अधिक लोड की वजह से सर्वर फेल हो गया। डिलवरी नहीं मिलने के बाद लोगों ने विभाग द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर 14405, 9039364659 में भी कॉल करने की कोशिश की लेकिन सर्वर से ही कॉल कनेक्ट होने के कारण कॉल भी नहीं लगा।

Read More : राहत की खबर : छत्तीसगढ़ के इस जिले में अब तक 37 हजार मरीज घर में हुए ठीक

कम कर दिया गया बुकिंग की टाइमिंग
विभाग नें शुरुआत में बुकिंग करने की टाइमिंग सुबह 8 से शाम 8 बजे तक ही रखी थी। लेकिन बाद में डिमाड बढ़ती देख बुकिंग टाइमिंग सुबह 9 से शाम 5 बजे तक कर दिया है। लाकडाउन के नियमों के मुताबिक होम डिलीवरी भी शाम 8 बजे तक ही हो पाएगी।

कमेंट बाक्स में निकाली भड़ास
सीएसएमसीएल के एप में से जो लोगों नें आर्डर किया था और डिलीवरी नहीं होने पर उन्होंने मंत्री से लेकर अधिकारियों तक जमकर भड़ास निकाली। एक ग्राहक का 2000 हजार रुपए कटने और आर्डर नहीं मिलने पर उसने गली गलौज तक कर दी। कारण यह था कि जब आर्डर एक्सेप्ट का मैसेज नहीं आए तब राशि एप वॉलेट में वापस आने की बात कही गई थी जो कई घंटों तक वापस नहीं आई।

सर्वर खराब होने के कारण थोड़ी दिक्कत हो हुई है। प्रयास किया जा रहा है कि रात में ही सभी आर्डर की डिलीवरी कर दी जाए।
- एपी त्रिपाठी, विशेष सचिव, आबकारी विभाग

Read More : नशे की ऐसी लत लॉकडाउन में नहीं मिली शराब तो एल्कोहल वाली पेट की दवा पी ली, 3 युवकों की मौत

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned