एडीजी जीपी सिंह की डायरी में दबंग आईपीएस और रसूखदारों के नाम

  • ईओडब्ल्यू-एसीबी की कार्रवाई
  • पत्नी-बेटे के नाम पर 75 से अधिक बीमा पॉलिसी

By: Anupam Rajvaidya

Published: 03 Jul 2021, 02:48 AM IST

रायपुर. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजी) जीपी सिंह के छत्तीसगढ़ व ओडिशा में 15 ठिकानों पर राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण (ईओडब्ल्यू) एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) की टीम ने गुरुवार को दबिश दी। जीपी सिंह के यहां शुक्रवार को भी ईओडब्ल्यू एसीबी की जांच जारी रही। तलाशी के दौरान मिले दस्तावेजों के आधार पर रायपुर के आजादचौक और मैग्नेटो मॉल स्थित 2 अन्य ठिकानों पर दबिश दी गई। ईओडब्ल्यू के एक हाथ एक डायरी लगी है, जिसमें एक दबंग आईपीएस, एक जनप्रतिनिधि समेत रसूखदारों का जिक्र है। इतना ही नहीं, विभिन्न विभागों में लिपिकों द्वारा जासूसी और ब्लैकमेलिंग कराने के दस्तावेज हाथ लगे हैं।

ये भी पढ़ें...आईपीएस जीपी सिंह की 5 करोड़ रुपए की चल-अचल संपत्ति का पता चला
ईओडब्ल्यू से मिली जानकारी के अनुसार जीपी सिंह ने पत्नी एवं बेटे के नाम पर 75 से भी अधिक बीमा करवाया है। इसके प्रिमियम के रूप में लाखों रुपए भुगतान किया गया है। साथ ही बैंकों एवं डाकघरों में कई खातों में रकम जमा कराई गई है। अब तक की जांच में 35 से अधिक शेयर एवं म्युचुअल फंड में 1.50 करोड़ रुपए से अधिक का निवेश किया गया है। इसका हिसाब किया जा रहा है। इसके ब्लैकमनी होने की आशंका विभागीय अधिकारियों द्वारा जताई गई है।
ये भी पढ़ें...छत्तीसगढ़ ने मांगी 1 करोड़ कोविड वैक्सीन, मोदी सरकार देगी 24 लाख डोज
परिजनों के नाम पर हाइवा, जेसीबी, कांक्रीट मिक्सचर वाहन लगभग 75 लाख के कमर्शियल वाहन खरीदे गए हैं। यह सभी वाहन अलग-अलग कंपनियों और फैक्ट्रियों में लगाए गए हैं। इनके जरिए प्रतिमाह लाखों रुपए आय अर्जित करना बताया गया है। वहीं जमीन, मकान व फ्लैट में राज्य एवं दूसरे राज्यों में निवेश करने के दस्तावेज मिले हैं।
ये भी पढ़ें...ऑनलाइन गेम का बच्चे को लगा ऐसा चस्का कि गंवा दिए तीन लाख रुपए

Show More
Anupam Rajvaidya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned