गाड़ियों का फिटनेस टेस्ट अब इस ऐप से हुआ और भी आसान, जानें कैसे करें इस्तेमाल

- राज्य में अब गाड़ियों का फोटो फिट्नेस क्यूआर कोड एम-वाहन ऐप से
- फिटनेस का कार्य अब और अधिक आसानी तथा पारदिर्शता से होगा

By: Ashish Gupta

Published: 03 Mar 2021, 05:52 PM IST

रायपुर. राज्य में अब फिटनेस का फर्जीवाड़ा रोकने फोटो साथ क्यूआर कोड आधारित ऐप जारी किया गया है। अब तक यह काम मैन्युअल किया जाता था। लेकिन नई व्यवस्था के तहत अब यह मोबाइल के जरिए आनलाइन होगा। परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर ने फिटनेस को अधिक पारदर्शी बनाने के लिए 1 मार्च से एम-वाहन (M Vahan App) नामक एप शुरू किया गया है।

यूट्यूब से सीखा ठगी करने का तरीका फिर मुद्रा योजना के नाम पर सैकड़ों को बनाया शिकार

ऐप के माध्यम से रसीद में दिया क्यूआर कोड स्कैन करने से गाड़ी की समस्त जानकारी उपलब्ध हो जाएगी। ऐप से फिटनेस करने लिए गाड़ी का फोटो एम-वाहन ऐप से खींचना पड़ेगा। इससे फोटो के साथ गाड़ी का लोकेशन भी दिखाई देखा। इसे आरटीओ अधिकारी अपने दफ्तर से देख सकेंगे।

नई व्यवस्था के तहत फिटनेस के लिए आने वाले वाहनों का फिटनेस टेस्ट के बाद फोटो ऐप में अपलोड करनी पड़ेगी। इसके लिए वाहन को परिवहन कार्यालय स्थित फिटनेस सेंटर लाना पड़ेगा। बता दें कि राज्य में कुल 60 लाख छोटी-बड़ी गाड़ियां पंजीकृत हैं। इसमें रोजाना रायपुर आरटीओ कार्यालय में 50 गाड़ियां और प्रदेशभर में करीब 800 गाड़ियां फिटनेस की जांच कराने पहुंचती हैं।

बातों के मायाजाल में फंसाकर विधवा बहू के साथ ससुर ने की ऐसी हरकत, हैरान रह गए लोग

इस तरह होगा फिटनेस
फिटनेस की जांच करने के दौरान वाहन की फोटो एम-वाहन नामक ऐप से खिंचा जाएगा। एम-वाहन ऐप से फोटो खींचते ही फोटो खींचने वाले जगह का लोकेशन (जीओ टैगिंग) रिकार्ड हो जाएगा। साथ ही मैप में लोकेशन का कोऑर्डिनेट भी दिखाई देगा। साथ ही जांच केंद्र से 500 मीटर दूर होते ही यह ऐप काम करना बंद कर देगा। इससे फिटनेस जांच में फर्जीवाड़ा नहीं होगा।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned