जन सूचना अधिकारी ने RTI के जवाब में भेजा स्कूली छात्राओं के लव लेटर, आयुक्त ने दिया जांच का आदेश

भोजन की गुणवत्ता को लेकर छात्राओं ने किया था जिला प्रशासन से शिकायत।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 27 Nov 2019, 09:00 PM IST

रायगढ़। सुचना का अधिकार 2005 आम नागरिक के लिए बड़ा औजार के रूप में साबित हुआ है। RTI कानून में हाल ही में हुए बदलाव को लेकर देश भर के कुछ हिस्सों में काफी विरोध भी किया गया इसी बीच एक घटना छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले में घटी है जिसे सुनकर आप भी हैरत में पड़ जाएंगे।दरअसल आदिवासी विभाग ने एक RTI के तहत पूछे गए सवाल के जवाब में एक दर्जन प्रेम पत्र भेज दिए हैं। इस मामले में आयुक्त ने जांच के आदेश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार लैलूंगा स्थित आदिवासी छात्रावास में रहने वाली कुछ छात्राओं ने जिला प्रशासन से शिकायत की थी कि छात्रावास अधीक्षिका उन्हें टाइम पर भोजन नहीं देती हैं। यही नहीं उनको दिए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता भी बहुत ही घटिया होती है। आये दिन भोजन में इल्लियां मिलती है।

जन सूचना अधिकारी ने RTI के जवाब में भेजा स्कूली छात्राओं के लव लेटर, आयुक्त ने दिया जांच का आदेश

उन्होंने इसकी शिकायत की तो तहसीलदार ने छात्रावास की जांच कर जिला प्रशासन को रिपोर्ट सौंपी थी। निरीक्षण के कुछ दिनों के बाद लैलूंगा के ही रहने वाले जितेन्द्र ठाकुर ने विभाग में आरटीआई लगाकर हॉस्टल में मिली शिकायत पर जांच की अपडेट मांगी।

अपडेट के नाम पर विभाग ने पढ़ाई कर रही छात्राओं के 17 प्रेम पत्रों की फोटोकॉपी उन्हें भेज दी। बताया जा रहा है कि हास्टल अधीक्षिका रोज एक्का ने जांच के दौरान अधिकारियों को जवाब दिया था कि छात्राओं के बैग से प्रेम पत्र उसने बरामद किए हैं, जिसकी वजह से छात्राएं उनका विरोध व शिकायत कर रही हैं।

यह छात्राओं के निजता का उल्लंघन है। हालाँकि विभाग का कहना है कि उन्होंने जो जानकारी हमसे मांगी थी हमने वही जानकारी उन्हें दी है। मामले के संज्ञान में आने के बाद सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग ने जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जांच के बाद जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

Click & Read More Chhattisgarh News.

सरकारी अस्पताल में हुआ बेहतरीन इलाज, एक पैर की नस दूसरे पैर से जोड़कर महिला के पैर कटने से बचाया

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned